class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गोली से घायल दूल्हे की इलाज के दौरान मौत

अपनी होने वाली पत्नी के प्रेमी की गोली से घायल मरदह थाना क्षेत्र के बहतुरा गांव निवासी दूल्हे कृष्णानन्द यादव की सोमवार को वाराणसी के एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गयी।

युवक की मौत की खबर गांव पहुंची तो उसके घर की महिलाएं रोने-बिलखने लगीं और उनका क्रंदन सुनकर ढांढस बंधाने वाले ग्रामीण भी विचलित हो उठे।

दूल्हे को गोली मारने के आरोप में ग्रामीणों व बारातियों के हाथों पीटे गये हमलावर राजू उर्फ अंगद यादव की भी रविवार को मऊ के एक अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो चुकी है।

उल्लेखनीय है कि गत 10 दिसम्बर को बहतुरा गांव के कृष्णानन्द यादव की बारात मऊ जिले के सरायलखंसी थाना क्षेत्र के उस्मानपुर गांव में गयी हुई थी। वहां जनवासे में बैठे कृष्णानन्द को दुल्हन के प्रेमी राजू उर्फ अंगद यादव (तरवां जिला आजमगढ़) ने गोली मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया था।

बारातियों व ग्रामीणों ने हमलावर राजू को धर दबोचा और जमकर धुनाई करने के बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया। घायल दूल्हे को इलाज के लिए वाराणसी तथा हमलावर को मऊ के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

रविवार को हमलावर राजू की इलाज के दौरान मौत हो गयी। दूसरी ओर घायल दूल्हे कृष्णानन्द की भी सोमवार को तड़के वाराणसी में इलाज के दौरान मौत हो गयी। इसकी अंत्येष्टि वहीं हरिश्चन्द्र घाट पर कर दी गयी।

कृष्णानंद यादव की मौत की खबर गांव में पहुंचते ही कोहराम मच गया। मृतक के दरवाजे पर सांत्वना देने वाले लोगों का तांता लग गया। घर की महिलाएं बिलख-बिलख कर रो रही थीं। इस हृदय विदारक दृश्य को देखकर वहां मौजूद सभी लोगों की आंखें नम हो गयीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गोली से घायल दूल्हे की इलाज के दौरान मौत