class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बंधनों के खिलाफ है इनकी आवाज

रविवार को समाप्त हुआ साउथ एशियन बैंड्स फेस्टिवल 2009 इस बात की तस्दीक करता है कि अंधेरे के खिलाफ हमारे वक्त के कलाकार न सिर्फ सचेत थे बल्कि उसके खिलाफ अभिव्यक्ति के तमाम खतरे उठा रहे थे।

फेस्टिवल के तीसरे और अंतिम दिन पांच बैंड्स ने अपनी प्रस्तुति दी। इन प्रस्तुतियों में एशियाई देशों के साङो सांस्कृतिक ताने-बाने की रंग बिरंगी झांकी दिखाई दी।

झूमते-गाते युवा कदमों ने पूरी फिजा में मदहोशी का आलम पैदा कर दिया था। शंकर एहसान लॉय ने बॉलीवुड फिल्मों के नगमे सुनाकर महोत्सव में समां बांध दिया।

प्रतिरोध के रचनात्मक स्वर-  म्यांमार से आए रॉक बैंड एंपरर ने अपने प्रतिरोधी स्वरों से सजे गानों को गाकर युवाओं को दुनिया को उम्मीदों और शांति का दामन न छोड़ने के लिए प्रेरित किया।

बैंड के मुख्य गायक ज़ाओ ने जब ब्लू शैली में ड्रीमिंग द स्टार गाया तो वहां मौजूद हर युवा को अपनी जीवन यात्रा के अनछुए पहलूओं की सपनीली दुनिया और पथरीली असलियतों के बीच की कसमसाहट का अहसास सीधे अंदर तक हुआ।

ज़ाओ इसके अलावा लाइफलैस और रॉक कैन शाइन एवरीवेयर को गाकर मौजूद हर उम्र के श्रोता को थिरकने पर मजबूर कर दिया।

इस बैंड  की एक खासियत यह भी रही है कि इसने सैन्य तानाशाही से ग्रसित म्यांमार में जब जब अपनी सार्वजनिक प्रस्तुतियां दी तब तब वहां कि जनता ने इनके गाने से प्रेरित होकर तानाशाही के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन तक करने से गुरेज नहीं किया।

ज़ाओ के अनुसार इसीलिए हम जब भी अपने देश में कोई प्रस्तुति देते हैं तो हमें अपने फैन्स से अपील करनी पड़ती है कि वे इसके बाद प्रदर्शन पर न उतरें।

दूसरी प्रस्तुति भूटान से आए बैंड हू इज योअर डैडी ने दी। बैंड के मुख्य गायक सूपे ने रंगीन मिजाज के देसी रॉक से पगे गाने गाकर मौजूद युवाओं के भीने-भीने से रोमानी अहसास को आवाज दी।

इसके अलावा इन योअर पॉकेट गाकर युवाओं को याद दिलाया कि प्यार की परिभाषा को बदलने न दें। नेपाल से आए बैंड 1974 एडी ने प्रतिरोध के रचनात्मक स्वरों से पिरोए अपने गीतों को गाकर जिंदादिली और जिम्मेदारी का अहसास कराया।

इनके पिंजरा को सुगा नामक गीत तो सभी को अंदर तक भिगो दिया। मलयाली बैंड अवील ने चीनी और मलयाली लोक संगीत के फ्यूजन को गाकर सभी को मोहित कर लिया।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बंधनों के खिलाफ है इनकी आवाज