class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संसद पर हमले की 8वीं बरसी पर राजधानी में हुए कई कार्यक्रम

संसद पर हमले की 8वीं बरसी पर राजधानी में कई कार्यक्रम हुए। उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी, प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी और अनेक सांसदों ने रविवार को उन शहीदों को याद किया, जिन्होंने आठ वर्ष पहले आतंकी हमले के दौरान संसद की रक्षा करते हुए अपना जीवन बलिदान किया था।

लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार और विपक्ष के नेता लालकृष्ण आडवाणी ने भी संसद भवन परिसर में आयोजित एक सादे समारोह में शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की । इस मौके पर संसद भवन में एक रक्तदान शिविर का भी आयोजन किया गया जिसमें लोकसभा और राज्यसभा सचिवालय के अनेक अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने रक्त दान किया।

जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करने के बाद राष्ट्रवादी सेना के कार्यकर्ताओं ने अध्यक्ष जयभगवान गोयल की अगुवाई में अफज़ल का पुतला फूंका। मौके पर गोयल ने कहा कि आतंकवाद आज पूरी दुनिया के लिए सबसे बड़ा मुद्दा है।

अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के कार्यकर्ताओं ने मंदिर मार्ग से जंतर मंतर तक आतंकवादियों की शवयात्रा निकालकर अपा असंतोष जताया।  श्री कालका मंदिर परिसर में विश्व हिंदू महासंघ ने राष्ट्र रक्षा यज्ञ आयोजित किया।

इंडिया गेट पर एंटी टेरीरिस्ट फ्रंट की तरफ से आतंकी  हमलों में मारे गये लोगों का स्मरण किया गया।
आज ही के दिन 13 दिसम्बर 2001 को पांच हथियारबंद आतंवादियों ने संसद भवन में घुसकर अंधाधुंध गोलियां चलानी शुरू कर दी थी जिसमें नौ व्यक्ति मारे गये थे।

मरने वालों में दिल्ली पुलिस के पांच कर्मी, केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल की एक महिला कांस्टेबल, राज्यसभा सचिवालय के दो कर्मी और एक माली शामिल थे । पांचों आतंकवादी वहीं मार गिराये गये थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शहीदों की याद में आंखें नम