class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

..तो ऐसे होगा पर्यावरण संरक्षण

पर्यावरण संरक्षण के लिए विकसित देशों पर शिकंजा कसना होगा। तभी कोपेनहेगन में जलवायु परिवर्तन पर चल रहे सम्मेलन को सार्थक बनाया जा सकता है।

युगांडा के मुख्य न्यायाधीश बीजे ओडोकी ने कहा कि पर्यावरण को बचाने के लिए अन्तर्राष्ट्रीय कानून बनाया जाए। इसकी निगरानी के लिए विश्व के विभिन्न देशों के नुमाइंदों की अलग- अलग कमेटी बने। क्योंकि पर्यावरण की समस्या किसी एक देश की नहीं है, यह तो वैश्विक है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:..तो ऐसे होगा पर्यावरण संरक्षण