class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उतार- चढ़ाव भरे कारोबार के बीच शेयर बाजारों का रूख

उतार- चढ़ाव भरे कारोबार के बीच शेयर बाजारों का रूख

लिवाली और बिकवाली के झोकों के बीच 12 दिसंबर को समाप्त सप्ताह में देश भर के प्रमुख शेयर बाजारों में कारोबार का मिश्रित रूख दिखाई पड़ा तथा बंबई शेयर बाजार में जहां 17.49 अंकों की मामूली तेजी देखने को मिली वहीं कलकत्ता शेयर बाजार में लगभग 95 अंकों की गिरावट आई।

समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान सेंसेक्स और निफटी दोनों ही आठ सप्ताह के उच्चतम स्तर को छूने के बाद मामूली तेजी का रूख प्रदर्शित करते बंद हुए। आम तौर पर यहां मौजूदा स्तर पर निवेशक अपने सौदों का आकार बढ़ाने के मूड में नहीं थे तथा चालू कैलेंडर वर्ष में इक्विटी में सतत पूंजी अंत:प्रवाह के बावजूद दिन के उच्चतम स्तर पर मुनाफावसूली करते देखे गए।

समीक्षाधीन अवधि में लार्सन एंड टूब्रो, भारती एयरटेल और भेल जैसी कंपनियों के शेयर चमक में रहे जिन्होंने सेंसेक्स के स्थिर रहने और मामूली लाभ के साथ बंद होने में काफी योगदान किया। शुक्रवार को कारोबार के दौरान आठ सप्ताह के उच्चतम स्तर 17,351.71 अंक की ऊंचाई को छूने के बाद बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों पर आधारित सेंसेक्स विगत सप्ताहांत के मुकाबले 17.49 अंक अथवा 0.10 प्रतिशत की तेजी के साथ 17,119.03 अंक पर बंद हुआ। इसी प्रकार, नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफटी विगत सप्ताहांत के मुकाबले 8.40 अंकों की मामूली तेजी के साथ 5.117.30 अंक पर बंद हुआ।

भारत के औद्योगिक उत्पादन में अक्टूबर के दौरान 10.3 प्रतिशत की तेजी आई लेकिन यह एक सप्ताह पहले के सकल घरेलू उत्पाद में आई वृद्धि की तरह से निवेशकों में उत्साह का संचार करने में विफल रहा। आने वाले दिनों में बाजार के सुसंगठित होने की संभावना है क्योंकि औद्योगिक उत्पादन का मौजूदा रूख अगले कुछ महीनों में भी जारी रह सकता है। सरकार की ओर से चालू वित्तवर्ष के शेष महीनों में इसी तरह के रूख रहने का अंदाजा लगाया गया है।

भारत की इंजीनियरिंग और निर्माण क्षेत्र की प्रमुख कंपनी लार्सन एंड टूब्रो द्वारा 844 करोड़ रूपए का आर्डर प्राप्त करने के बाद उसके शेयर में 4.19 प्रतिशत की तेजी आई। सार्वजनिक क्षेत्र की भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स (भेल) द्वारा हाल में अधिगृहित भारत हेवी प्लेटस एंड वैसेल्स में अगले तीन सालों में 235 करोड़ रूपए का निवेश करने की योजना की खबर के बाद भेल के शेयर में 7.02 प्रतिशत की तेजी आई।

प्रमुख दूरसंचार कंपनी भारती एयरटेल के शेयर में भारी लिवाली हुई और इसके शेयर में 6.94 प्रतिशत का लाभ दर्ज हुआ। धातु खंड के शेयरों को काफी झटका लगा। भारत की विशालतम इस्पात निर्माता कंपनी टाटा स्टील के शेयर में 5.24 प्रतिशत की गिरावट आई जबकि स्टरलाईट इंड 5.37 प्रतिशत की गिरावट दर्शाता बंद हुआ।

सप्ताह के दौरान डालर के मुकाबले रूपए में कमजोरी के कारण आईटी शेयरों में लाभ दर्ज हुआ। इंफोसिस टेक में जहां 3.03 प्रतिशत की तेजी आई वहीं विप्रो में 1.10 प्रतिशत और टीसीएस में 1.24 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गई। आलोच्य सप्ताह में कारोबार का आकार पिछले सप्ताहांत के मुकाबले अपेक्षाकृत कम था।

कलकत्ता शेयर बाजार में समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान सूचकांक में 95 अंकों की हानि दर्ज हुई। चालीस शेयरों पर आधारित कलकत्ता शेयर बाजार का सूचकांक 7,265.71 अंक पर खुला तथा सप्ताह के 7,149.36 अंक के निम्नतम स्तर से मामूली सुधार के साथ 7,170.36 अंक पर बंद हुआ जो पिछले सप्ताहांत के बंद स्तर के मुकाबले लगभग 95 अंकों की गिरावट को प्रदर्शित करता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उतार- चढ़ाव भरे कारोबार के बीच शेयर बाजारों का रूख