class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नाटक ‘मिट्टी की गाड़ी’ का मंचन

हिन्दी अकादमी दिल्ली की ओर से मिरांडा हाउस की हिन्दी नाट्य समिति ‘अनुकृति’ के साथ नाटक ‘मिट्टी की गाड़ी’ का मंचन किया गया। राष्ट्रीय नाटय़ विद्यालय के खचाखच भरे अभिमंच सभागार में प्रस्तुत इस नाटक में पुरुष पात्रों की भूमिकाओं को भी छात्रओं ने बखूबी निभाया।

इस अवसर पर दिल्ली के विशेष सचिव केशव चन्द्रा, अकादमी के उपाध्यक्ष प्रो. अशोक चक्रधर और अकादमी के सचिव डॉ. रविन्द्र नाथ श्रीवास्तव ‘परिचय दास’ ने 5वीं शताब्दी के इस नाटक को पहले सामाजिक नाटक की संज्ञा देते हुए कहा कि इस नाटक में एक ऐसा समकाल मौजूद है जिसे आज भी महसूस किया जा सकता है।

प्रो. अशोक चक्रधर ने पूरे नाटक को छात्रओं द्वारा तैयार करने और पुरुष भूमिकाएं स्वयं निभाने को अनूठा और सराहनीय प्रयास बताया।

इस मौके पर मिरांडा हाउस की प्राचार्या प्रतिभा जौली, हिन्दी विभाग की अध्यक्ष डॉ. अर्चना वर्मा, साहित्यकार शिवमूर्ति, नीलाभ, संजीव और अकादमी के कार्यकारिणी सदस्य विभास चन्द्र वर्मा भी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नाटक ‘मिट्टी की गाड़ी’ का मंचन