class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शाम होते ही बढ़ी बसों की किल्लत

बसों की फ्रिक्वेंसी कम होने से शाम का समय यात्रियों के इंतजार का बन गया है। नोएडा से दिल्ली व दिल्ली से नोएडा आने वाले यात्रियों को बसों के इंतजार में घंटे भर से ज्यादा समय स्टैंड पर खड़ा रहना पड़ रहा है। ब्लू लाइन बसें बंद होने के बाद शाम को यात्रियों के इंतजार करने का संकट और बढ़ गया है।

शनिवार को सुबह का समय यात्रियों के लिए अच्छा रहा। उन्हें रूट नंबर 33, 34, 355 व 392 सहित अन्य बसों को पकड़ने में स्टैंड पर अधिक इंतजार नहीं करना पड़ा। सेक्टर-12, सेक्टर-20, सेक्टर-19 व रजनीगंधा स्टैंड पर मिनट-मिनट पर बसों की फ्रिक्वेंसी रही। इसमें डीटीसी व यूपी रोडवेज दोनों बसें शामिल थीं।

डीटीसी बसें सड़क पर दौड़ने से शहरवासियों को विभिन्न रूटों की बसें सुबह से लेकर शाम तक जरूर मिलती रहीं, लेकिन शाम होते ही उनकी फ्रिक्वेंसी कम हो गई। जिससे यात्री शाम से लेकर रात दस बजे तक परेशान रहे।
डीटीसी बसों की फ्रिक्वेंसी शनिवार को बढ़ी नजर आई। दोपहर के वक्त यात्रियों की कमी होने के चलते यही बसें खाली सड़क पर दौड़ीं जबकि शाम का वक्त इन बसों की किल्लत का रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शाम होते ही बढ़ी बसों की किल्लत