class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वाइन फ्लू से बचाव की अब 25 हजार टेबलेट यूपी में

यूपी में स्वाइन फ्लू के प्रकोप की आशंका को देखते हुए राज्य सरकार ने प्रभावित जिलों में टेमी फ्लू की करीब 25 हजार टेबलेट मुहैया करा दी है। इसके साथ इस टेबलेट की बिक्री खुले बाजार में अनुमन्य कर दी गई है। स्वाइन फ्लू से बचाव के लिए राजधानी में 17 दिसम्बर को एक कार्यशाला का भी आयोजन किया गया है जिसमें सभी जिलों के सीएमओ को मौजूद रहने के निर्देश दिए गए हैं।

भारत सरकार ने सभी राज्यों को सचेत किया है कि सर्दियाँ तेज होते ही एच-1, एन-1 का प्रकोप बढ़ सकता है। इसके लिए सरकार ने अभी से तैयारी शुरू कर दी है। स्वास्थ्य मंत्री अनन्त कुमार मिश्र ने स्वाइन फ्लू के लिए शनिवार को यहाँ समीक्षा बैठक की।

उन्होंने महानिदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य को निर्देश दिए हैं कि वे 15 दिसम्बर तक कानपुर, इलाहाबाद, झाँसी, गोरखपुर व आगरा मंडल मुख्यालय में स्वाइन फ्लू से बचाव के लिए बैठक करें और जिलों में दवाएँ सुनिश्चित कराएँ। प्रदेश में अब तक करीब 500 लोग स्वाइन फ्लू की चपेट में आ चुके हैं।

इसका प्रभाव 21 जिलों में फैला है। इसमें लखनऊ में 262, गौतमबुद्धनगर में 148, गाजियाबाद में 38, कानपुर में 9, इलाहाबाद में 3 व झाँसी में 3 केस सामने आए हैं। प्रदेश में स्वाइन फ्लू से अब तक पाँच मौतें हो चुकी हैं।

स्वास्थ्य विभाग को हर जिले में टेमी फ्लू की एक हजार टेबलेट व प्रत्येक मंडल मुख्यालय पर दस हजार टेबलेट का इंतजाम करने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। हर ग्रसित रोगी और उनके सम्पर्क में आए लोगों को ये टेबलेट दी जा रही है।

प्रदेश में कैमिस्टों के माध्यम से टेमी फ्लू टेबलेट की बिक्री खुले बाजार में उपलब्ध करा दी गई हे। दूसरी ओर स्वास्थ्य विभाग ने इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के प्रतिनिधियों के साथ 17 दिसम्बर को राजधानी में एक दिन की कार्यशाला का आयोजन किया है। इस कार्यशाला में सभी जिलों के सीएमओ को मौजूद रहने को कहा गया है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्वाइन फ्लू के लिए अब 25 हजार टेबलेट यूपी में