class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब नहीं झेलेंगे जलालत, सभी शहरों में बनेंगे नागरिक सुविधा स्थल

याद कीजिए। आप किसी दीवाल की ओट में खड़े होकर फारिग हो रहे हैं। सामने मोटे अक्षरों में गंदी-गंदी गालियां लिखी हैं। जुर्माना की धमकी अलग से चस्पां है। अब राज्य के शहरों में शौचालय और पेशाब करने के दौरान यह जलालत नहीं झेलनी होगी।

राज्य सरकार सभी शहरों में नागरिक सुविधा स्थल बनाने जा रही है। शुरुआत राजधानी से हो रही है। ऐसे 32 स्थल पटना में बनकर तैयार हैं। उप मुख्यमंत्री और नगर विकास विभाग के प्रभारी मंत्री सुशील कुमार मोदी ने शनिवार को तीन स्थलों का मुआयना किया।

श्री मोदी ने बताया कि एक सुविधा स्थल के निर्माण पर साढ़े 18 लाख रुपये खर्च हो रहे हैं। राजधानी में कुल 102 जगहों पर इन स्थलों का निर्माण होना है। इनका निर्माण बिहार पुल निर्माण निगम कर रहा है। यहां पुरुषों एवं महिलाओं के लिए अलग-अलग शौचालय और प्रसाधन कक्ष का निर्माण किया गया है।

हरेक केंद्र पर पुरुषों के लिए चार शौचालय, पांच मूत्रलय और चार बेसिन का प्रावधान किया गया है। महिलाओं के लिए तीन शौचालय, चार बेसिन और एक प्रसाधन कक्ष का निर्माण किया जा रहा है। सफाई, पानी और रोशनी की खास व्यवस्था की गई है।

पुल निर्माण निगम के प्रबंध निदेशक अतीश चंद्रा ने बताया कि पहले चरण के सभी 32 सुविधा स्थल 20 दिसम्बर के बाद किसी भी दिन नागरिकों के लिए खोल दिए जाएंगे। रख-रखाव की जिम्मेवारी निजी क्षेत्रों को दी जा रही है। उपयोग करनेवालों से साधारण शुल्क लिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि इन सुविधा स्थलों के निर्माण से शहर को साफ-सुथरा बनाए रखने में मदद मिलेगी। इसके बाद भी लोग जहां-तहां गंदगी फैलाएंगे तो उनके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब नहीं झेलेंगे जलालत