class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महंगाई में पेट भरना हो रहा मुश्किल

लगातार मूल्यवृद्धि से मानव कराह उठा है। बढ़ती महंगाई में आम आदमी का पेट भरना मुश्किल होता जा रहा है। यह बातें एसएमजेएन पीजी कालेज के वाणिज्य संकाय के अध्यक्ष डा.सुनील बत्र ने वाणिज्य संकाय में आयोजित संगोष्ठी में व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि लगातार जनसंख्या वृद्धि भी महंगाई का एक प्रमुख कारण है। उन्होंने कहा कि सरकार का नियंत्रण खत्म होता जा रहा है। वित्तीय व्यवस्था घाटे में जा रही है। कृषि का उत्पादन मंद हो गया है। उन्होंने कहा कि सरकार इन पहलुओं पर जल्द विचार नहीं करती तो आने वाले समय पर महंगाई पर नियंत्रण नहीं हो सकता है।  शुक्रवार को कालेज के वाणिज्य संकार में समाज और आर्थिक विकास में मूल्य वृद्धि का प्रभाव विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

वाणिज्य संकाय के प्राध्यापक डा.मनमोहन गुप्ता ने कहा कि आम आदमी का महंगाई के साथ सामंजस्य नहीं बैठ पा रहा है। उन्होंने कहा कि रातों रात खाद्यान्न के दामों में दोगुनी वृद्धि हो जा रही है। उन्होंने कहा कि अब समय नहीं है जनसंख्या पर नियंत्रण करना ही होगा।


शिवानी भाटिया, चांदनी शर्मा और नियति खन्नना ने अपने पत्र प्रस्तुत किये। शोभित भार्गव, प्रीति शर्मा, आरती धीमान, अमित बिष्ट, गौरव बड़ोनी, रोहित सिंह, अभय अग्रवाल, कुरियन एंटनी ने भी अपने विचार व्यक्त किये। इस अवसर पर विनय सैनी, सुगंधा वर्मा, मनोज सोही, शिव कुमार चौहान, श्रीमती रिंकल गोयल, श्रीमती प्रियंका पांडेय, कु.ज्योति मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महंगाई में पेट भरना हो रहा मुश्किल