class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नर्सो का मानदेय बढ़ा

स्वास्थ्य सेवा की आधार नर्स बहनों की बल्ले-बल्ले है। राज्य सरकार ने कांट्रेक्ट पर नियुक्ति नर्सों का मानदेय बढ़ा दिया है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा शुक्रवार को इस बाबत अधिसूचना जारी हो जाएगी। प्रखंड से लेकर मेडिकल कॉलेजों में तैनात करीब 10 हजार नर्सो को इसका सीधा फायदा मिलेगा। कई चरणों में नियुक्त की जा रहीं नई नर्सो को भी अब इस नये मानदेय पर ही भुगतान होगा। जनवरी से बढ़ा मानदेय मिलने लगेगा।


अस्पतालों में संस्थागत प्रसव में बढ़ोतरी के बाद प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र से लेकर मेडिकल कॉलेज अस्पताल तक में नर्सो की कमी महसूस की जा रही थी। इसके लिए सरकार ने कांट्रेक्ट के आधार पर नर्सो की बहाली शुरू की। राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन कार्यक्रम (एनआरएचएम) के तहत जननी एवं बाल सुरक्षा योजना की सफलता का दारोमदार भी इन्हीं नर्सो पर निर्भर है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने नर्सो की कमी दूर करने और पहले से काम कर रही नर्सो की सेवा जारी रखने के लिए उनके मानदेय में बढ़ोतरी का निर्णय किया है।


533 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों, 101 अनुमंडल अस्पतालों, 38 सदर अस्पतालों और 6 मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में 24 घंटे इमरजेंसी सेवा बहाल रखने के लिए पर्याप्त संख्या में नर्सो का होना आवश्यक है। इसके साथ ही गांव के निचले स्तर तक स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार करने के लिए एनआरएचएम के तहत भी पुराने 8858 स्वास्थ्य उपकेन्द्रों में एक-एक नर्स रखने का निर्देश है। जबकि नवसृजित 1553 स्वास्थ्य उपकेन्द्रों में नर्सो के दो पद रखे गये हैं। इसलिए नर्सो की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए मानदेय बढ़ाना सरकार के लिए आवश्यक हो गया है। स्वास्थ्य मंत्री नन्दकिशोर यादव ने पूछने पर बताया कि जनवरी से नर्सो का बढ़ा मानदेय देने की योजना है। विभागीय स्तर पर प्रक्रिया पूरी हो गई है।

 पद    वर्तमान मानदेय    बढ़ा मानदेय
वरीय शिक्षिका बहन  14000  15000
ग्रेड ए नर्स   7500    12000
एलएचवी   6500   9000
एएनएम    6000   8000

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नर्सो का मानदेय बढ़ा