class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गर्भवती महिला को दिल्ली हाईकोर्ट से छूट मिली

घरवालों की मर्जी के खिलाफ भारतीय लड़के से शादी करने वाली बंगलादेश की लड़की को गर्भावस्था के कारण अगले साल फरवरी तक दिल्ली हाईकोर्ट में पेश होने से छूट मिल गई है।


बंगलादेश के एक रसूखदार परिवार से ताल्लुक रखने वाली शाजिया को दिल्ली में रह रहे उसके प्रेमी से शादी रचाने के लिए फर्जी पासपोर्ट पर भारत आने के मामले में गुरुवार को अदालत में पेश होना था। न्यायाधीश वी.के. जैन ने मेडिकल ग्राउंड पर मामले की सुनवाई को तीन फरवरी तक स्थगित कर उसे अदालत में पेश होने से छूट दे दी।
लड़की के पिता की शिकायत पर फर्जी पासपोर्ट के मामले में विदेश मंत्रलय उसे वापस बंगलादेश भेजने के लिए डिपोर्टेशन की कार्रवाई भी कर रहा है। लड़की की गर्भावस्था के मद्देनजर सरकार ने मानवीय आधार पर फिलहाल उसके खिलाफ डिपोर्टेशन की कार्रवाई न करने का अदालत को भरोसा दिलाया है।


गौरतलब है कि इंटरनेट के  जरिए शुरु हुई इस प्रेम कहानी में गत जुलाई में उस समय नया मोड़ आ गया जब लड़की घरवालों की मर्जी के खिलाफ फर्जी पासपोर्ट बनवाकर दिल्ली आ गई और प्रेमी से शादी रचा ली। इतना ही नहीं पिता की पहल पर सक्रिय हुई दिल्ली पुलिस से बचने के लिए लड़की ने हाईकोर्ट से सुरक्षा की मांग की। अदालत ने 22 जुलाई को एक आदेश पारित कर सरकार को उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने से रोक दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गर्भवती महिला को दिल्ली हाईकोर्ट से छूट मिली