class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली की शामत दर शामत

दिल्ली सरकार के बाद अब एमसीडी भी लोगों पर करों का बोझ बढ़ाने जा रही है। एमसीडी के प्रस्तावित बजट में टैक्स में इजाफा किया जा रहा है। पहली बार 30 हजार रुपये महीने की आमदनी वाले लोगों से पेशेवर टैक्स लिया जाएगा।जो सौ या दो सौ रुपये प्रतिमाह और अधिकतम ढाई हजार रुपये वसूला जा सकता है।

प्रत्येक श्रेणी की संपत्ति पर पांच फीसदी टैक्स बढ़ोतरी तथा किराए व उच्च श्रेणी की कमर्शियल संपित्तयों पर भी 20 फीसदी कर का प्रस्ताव है। इससे निगम को छह सौ करोड़ रुपये की आमदनी बढ़ने का अनुमान है।

बुधवार को स्थायी समिति में निगमायुक्त के.एस.मेहरा ने अगले साल का 3346.74 करोड़ रुपये से अधिक के बजट पेश किया जिसमें पार्किग, सफाई, स्वास्थ्य, शिक्षा, कामनवेल्थ प्राथमिकता में रखा गया है। सभी श्रेणी की संपत्ति पर पांच फीसदी, किराए पर दी गई गैर आवासीय संपत्तियों व उच्च श्रेणी की गैर आवासीय संपत्तियों मसलन तीन सितारा व इससे ऊंची श्रेणी के होटल्स, मॉल्स,एयर कंडीशंड जिम्स, स्वीमिंग पूल वाले क्लब्स आदि पर 20 फीसदी कर लगाने का प्रस्ताव है।

निगमायुक्त ने  कहा कि अगले वित्तीय वर्ष के लिए पेशेवर कर लगाना प्रस्तावित है। इसके दायरे में किसी भी तरह के ट्रेड से जुड़े या रोजगार से ताल्लुक रखने वाले लोग शामिल होंगे, चाहे वे सरकारी हो या गैर सरकारी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल्ली की शामत दर शामत