class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी बोर्ड और सीसीएसयू की फर्जी मार्कशीट पकड़ीं

चंडीगढ़ पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम ने चंडीगढ़ में नकली मार्कशीट बेचने में पकड़े युवक की निशानदेही पर बुधवार को नहटौर की एक प्रिटिंग प्रेस पर छापा मारकर फर्जी मार्कशीट, डिग्रियां आदि बनाने का कारोबार पकड़ा है। पुलिस ने प्रेस स्वामी राशिद हाशमी को हिरासत में ले लिया है और उसकी निशानदेही पर कम्प्यूटर, चौ. चरण सिंह विश्वविद्यालय की मार्कशीट, यूपी बोर्ड की हाईस्कूल की सनद, मार्कशीट आदि बरामद की हैं।

चंडीगढ़ क्राइम ब्रांच के सब इंस्पेक्टर राजवीर सिंह और सुरेंद्र कुमार ने बताया कि उन्होंने पांच दिन पूर्व इलाहाबाद निवासी और डेरावसी पंजाब में रह रहे पीपी सिंह नामक युवक को चंडीगढ़ विश्वविद्यालय की फर्जी मार्कशीट बेचते हुए पकड़ा था। उसके पास से दजर्नों मार्कशीट, सनद, डिग्रियां आदि बरामद हुई थी। पूछताछ के दौरान उसने बताया था कि बिजनौर के चांदपुर इलाके के दिनेश से उसने फर्जी मार्कशीट बनवाईं।

पीपी की जानकारी के आधार पर पुलिस ने दिनेश को हिरासत में लेकर उसकी निशानदेही पर मोहल्ला अफगानान नहटौर स्थित राशिद हाशमी की उजाला प्रिटिंग प्रेस पर छापा मारकर कंप्यूटर, यूपी बोर्ड की  उमा तोमर नाम से हाईस्कूल क ी प्रथम श्रेणी की मार्कशीट और सनद तथा चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय की अनिरूद्ध नाम से बीए द्वितीय वर्ष की मार्कशीट सहित अनेक फर्जी डिग्री बरामद की हैं।

पुलिस ने राशिद हाशमी को हिरासत में ले लिया है। क्राइम ब्रांच के अनुसार सभी प्रमाण पत्र देखने में असली जैसे लगते हैं। पुलिस के अनुसार प्रेस स्वामी लंबे समय यह गैर कानूनी धंधा कर रहा था और कोई भी मार्कशीट बनाने के नाम पर मोटा धन वसूल रहा था। चंडीगढ़ क्राइम ब्रांच राशिद हाशमी को अपने साथ ले गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी बोर्ड और सीसीएसयू की फर्जी मार्कशीट पकड़ीं