class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संगकारा ने टीम इंडिया को जमीन पर पटका

संगकारा ने टीम इंडिया को जमीन पर पटका

कप्तान कुमार संगकारा की 37 गेंद पर 78 रन की ताबड़तोड़ पारी से रनों का पहाड़ खड़ा करने वाले श्रीलंका ने भारतीय मध्यक्रम को तहस नहस करके पहले टवंटी 20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में बुधवार को 29 रन की धमाकेदार जीत दर्ज की।

संगकारा ने 11 चौके और दो छक्के जड़कर अपने कैरियर का सर्वोच्च स्कोर बनाया तथा इस बीच तिलकरत्ने दिलशान (33 गेंद पर 34 रन) के साथ 74 रन और चामरा कापुगेदारा (20 गेंद पर 47 रन) के साथ 69 रन की उपयोगी साझेदारियां की जिससे श्रीलंका ने पांच विकेट पर 215 रन बनाकर खेल के इस छोटे प्रारूप में पांचवां बड़ा स्कोर खड़ा किया।
   
संगकारा ने यदि 21 गेंद पर अर्धशतक जमाया तो भारतीय सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर (26 गेंद पर 55 रन) ने इसके लिए केवल 19 गेंद खेली लेकिन दूसरे छोर से कोई अन्य बल्लेबाज नहीं चल पाया। भारत के पांच मंझे हुए बल्लेबाज 21 गेंद के अंदर पवेलियन लौटे और आखिर में उसकी टीम नौ विकेट पर 186 रन ही बना पाई। श्रीलंका इस तरह से टेस्ट सीरीज में 0-2 की शिकस्त से उबरकर शानदार वापसी करने में सफल रहा।

भारतीय टीम ने न सिर्फ गेंदबाजी और बल्लेबाजी में निराश किया बल्कि उसका क्षेत्ररक्षण भी दोयम दर्जे का रहा। श्रीलंका की तरफ से सनथ जयसूर्या, दिलशान और कापुगेदारा तीनों को शुरू में जीवनदान मिले। इसके अलावा रन आउट के भी कुछ अच्छे मौके छोड़े गए।

मुंबई में तीसरे टेस्ट मैच में 293 रन की आकर्षक पारी खेलने वाले वीरेंद्र सहवाग (14 गेंद पर 26 रन) ने नुवान कुलशेखरा की गेंद पर अपर कट से छक्का जमाकर अपने तेवर दिखाए लेकिन वह इसी ओवर में डीप प्वाइंट पर एंजेलो मैथ्यूज को कैच देकर पवेलियन लौट गए।

गंभीर ने बहन की शादी के कारण मुंबई टेस्ट में नहीं खेल पाने की खुन्नस नागपुर में निकाली। उन्होंने कुलशेखरा के अगले ओवर में लगातार तीन चौके लगाए और जब लेसिथ मालिंगा ने गेंद संभाली तो चार चौके जमाकर उनका स्वागत किया। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने मैथ्यूज की गेंद दो रन लेकर केवल 19 गेंद पर अपना अर्धशतक पूरा किया जो संयुक्त रूप से दूसरा तेज पचासा है।

मैथ्यूज ने नौवें ओवर में गंभीर को एक फुललेंग्थ गेंद पर बोल्ड करके विकेटों के पतझड़ की शुरुआत की। गंभीर ने 26 गेंद की पारी में 11 चौके लगाए और महेंद्र सिंह धोनी के साथ 61 रन की साझेदारी की जिसमें भारतीय कप्तान का योगदान आठ रन था।

इसके बाद धोनी (9), रोहित शर्मा (3), युवराज सिंह (6) और यूसुफ पठान (0) भी जल्द आउट हो गए जहां भारत का स्कोर एक समय एक विकेट पर 93 रन था वह 21 गेंद बाद छह विकेट पर 116 रन हो गया। धोनी, युवराज और पठान ने दबाव में लंबे शाट खेलकर कैच थमाए जबकि रोहित रन आउट हुए।

भारतीय कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने टास जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया लेकिन भारतीय फील्डरों का इस मैच में प्रदर्शन काफी दयनीय रहा। युवराज सिंह ने जयसूर्या का हलवा सा कैच छोडा जबकि ईशांत ने अपनी ही गेंद पर और बाद में सीमा रेखा के पास एक कैच छोड़ा। इस दौरान क्षेत्ररक्षकों के हाथों से भी गेंदें फिसलती रहीं और श्रीलंकाई बल्लेबाज एक-एक को दो-दो रनों में तब्दील करते रहे।

जयसूर्या ने पारी के पांचवें ओवर में नेहरा की गेंदों पर पांच चौके ठोक डाले। संगकारा ने नौंवे ओवर में ओझा की गेंदों पर दो चौके और एक छक्का ठोका और फिर अगले ओवर में पठान की गेंदों पर दो चौके जडे। संगकारा ने डिंडा की गेंदों पर दो चौके और रोहित की गेंद पर एक छक्का जड़ा। पारी के 19 वें ओवर में कापूगेदेरा ने नेहरा की गेंदों पर लगातार चार चौके जड़े। आखिरी ओवर में पठान की गेंदों पर मैथ्यूज ने दो विशाल छक्के जड़ते हुए श्रीलंका का स्कोर 215 पहुंचा दिया।

भारत की तरफ से टी 20 में अंतरराष्ट्रीय पदार्पण करने वाले आशीष नेहरा चार ओवर में 52 रन लुटाकर और यूसुफ पठान चार ओवर में 54 रन लुटाकर सबसे मंहगे गेंदबाज रहे। हालांकि दोनों को एक-एक विकेट ही मिला। ईशांत शर्मा ने चार ओवर में 22 रन दिए जबकि ट्वंटी 20 में पदार्पण करने वाले एक अन्य भारतीय खिलाडी अशोक डिंडा ने तीन ओवर में 34 रन देकर एक विकेट लिया। प्रज्ञान ओझा ने दो ओवर में 27 रन लुटाए जबकि रोहित शर्मा ने तीन ओवर में 22 रन पर एक विकेट लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:संगकारा ने टीम इंडिया को जमीन पर पटका