class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जड़ी-बूटी उत्पादन का प्रशिक्षण दिया

हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल केंद्रीय विवि के उच्च शिखरीय पादप कार्यिकी शोध केंद्र द्वारा हिमालयी आजीविका सुधार परियोजना के तहत चल रहे प्रशिक्षण शिविर के दूसरे दिन दूरस्थ क्षेत्रों से आये काश्तकारों को औषधीय एवं सगंध पादपों के कृषिकरण एवं उत्पादन का प्रशिक्षण दिया गया।

प्रशिक्षण के दौरान केंद्र के वैज्ञानिकों द्वारा बागेश्वर एवं उत्तरकाशी से आये कास्तकारों को जड़ी बूटी कृषिकरण की वर्तमान स्थिति, उत्पादन,  जैविक खादों के प्रयोग की जानकारिया प्रदान की गई और कास्तकारों को पादपों के उत्पादन का तकनीकी प्रशिक्षण दिया गया।

प्रशिक्षण शिविर के अवसर पर केंद्र के डा पी प्रसाद, डा विजय पुरोहित, डा राजेश चौहान, राजीव बशिष्ठ, गुन्जन शर्मा, नीलम रावत, संदीप आदि ने कास्तकारों को प्रयोगशाला में जड़ी बूटियों के उत्पादन से जुड़ी अनेक जानकारियां प्रदान की। इस अवसर पर कास्तकारों को औषधीय पादपों की बढ़ती मांग के बारे में भी अवगत कराया गया।

इस अवसर पर उत्तरकाशी तथा बागेश्वर से आये कास्तकार किसी देवी, गायत्री देवी, जयबीरी देवी, कुण्डली देवी, लीला, रामचंद्री, मंजरी, शांति, रामकला, रणदेई, रूसी देवी, धर्म सिंह, मनदेव, प्रताप सिंह, समेत अनेक कास्तकार उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जड़ी-बूटी उत्पादन का प्रशिक्षण दिया