class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब नियंत्रण में है उल्टी-दस्त की बीमारी

विकासखंड थराली के पैठाणी गांव में उल्टी दस्त के मरीजों की स्थिति अब नियंत्रण में बतायी जा रही है। डाक्टरों का एक दल इस गांव में पहुंच चुका है। बताया जा रहा है कि इस गांव में उल्टी दस्त की बीमारी से 90 से अधिक लोग बीमार हो गए थे।

शुक्रवार 4 दिसंबर को पैठाणी गांव में उल्टी दस्त से अनेक लोग बीमारी की चपेट में आ गए। जिसकी संख्या धीरे-धीरे बढ़ गई थी। स्थिति गंभीर थी परंतु गांव वालों का आरोप है कि चिकित्सा दल समय पर वहां नहीं पहुंचा। इधर, जिला चिकित्सालय के एपिडमोलाजिस्ट वेदप्रकाश ने बताया कि खबर मिलने के बाद थराली के डाक्टरों का एक दल प्रभावित गांवों में भेजा जा चुका है।

जहां से प्राप्त जानकारी के अनुसार अब बीमारी नियंत्रण में है। उन्होंने बताया कि अभी तक जान माल के हानि की कोई सूचना नहीं मिली है और डाक्टर गांवों में इलाज कर रहे हैं। इस उल्टी दस्त की बीमारी के कारणों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि संभवतया शादी-बारात में भोजन के बाद यह बीमारी सामने आई है।

उन्होंने बताया कि डाक्टर रोगियों का प्रशिक्षण कर रहे हैं और दवा दे रहे हैं। उधर, जिला पंचायत के स्वास्थ्य समिति के सभापति भुवन नौटियाल ने बताया कि वे सीएमओ से मिले और तुरंत गांव में डाक्टरों के दल को वहां रवाना करने के लिए कहा गया है।

एक ओर स्वास्थ्य महकमा फूड प्वाइजनिंग को बीमारी का कारण बता रहा है। दूसरी तरफ जन प्रतिनिधियों ने कहा कि संभवतया दूषित पेयजल की आपूर्ति के कारण यह बीमारी फैली है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब नियंत्रण में है उल्टी-दस्त की बीमारी