class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ताकतवर रूस विश्व शांति के लिए महत्वपूर्णः पीएम

ताकतवर रूस विश्व शांति के लिए महत्वपूर्णः पीएम

द्विपक्षीय सामरिक संबंधों को नई ऊंचाइयों पर ले जाने को इच्छुक प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सोमवार को साफ किया कि भारत के तीसरी दुनिया के देशों के साथ संबंधों के कारण रूस के साथ समय की कसौटी पर खरे रिश्तों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

क्रेमलिन में रूसी राष्ट्रपति दमित्रि मेदवेदव के साथ आमने-सामने की मुलाकात के बाद सिंह ने कहा कि ताकतवर रूस विश्व शांति के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। दोनों पक्षों के बीच शिखर वार्ता की पहली शुरुआती टिप्पणी में सिंह ने कहा कि वैश्विक अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने, आतंकवाद व अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं के सुधार के लिए कदम उठाने के साथ-साथ भारत और रूस को क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों के संबंध में संयुक्त भूमिका निभानी है।
 
इस वर्ष में रूस की इस दूसरी यात्रा का जिक्र करते हुए सिंह ने कहा कि इससे विभिन्न क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों को आगे ले जाने के प्रति भारत की तत्परता को दिए गए महत्व प्रदर्शित करता है। उन्होंने कहा कि तीसरी दुनिया के देशों के साथ संबंध में रूस के साथ समय पर खरे उतरे रिश्तों की कसौटी पर नहीं होंगे। सिंह ने कहा कि भारत-रूस के बीच सामरिक साझेदारी एक अद्वितीय सहयोग है, जिसकी जड़ें परस्पर हित और विश्वास तथा बहु ध्रुवीय विश्व के सझा दृष्टिकोण में गहरी हैं।

रूस के राष्ट्रपति ने कहा कि दोनों देशों के बीच संबंध व्यापक विविधता की सामरिक साझेदारी को प्रदर्शित करते हैं। देश में स्थित अपने निवास में रविवार के रात्रि भोज और सोमवार की सुबह की औपचारिक बैठक में कहा कि उन्होंने सामरिक साझेदारी को बढ़ाने के मुद्दों पर सिंह से विचार विमर्श किया।

मेदवेदेव ने कहा कि वैश्विक आर्थिक मंदी के बावजूद भारत और रूस के बीच व्यापार में आठ फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है और इस क्षेत्र में दोनों देशों के बीच संबंधों में भी प्रगति हुई है। सिंह ने इस मुद्दे पर मेदवेदेव के साथ विचारों का आदान प्रदान किया। रविवार की रात एक निजी रात्रि भोज में सिंह ने अपने मेजबान को आश्वस्त किया था कि भारत अब भी रूस को अपना सबसे महत्वपूर्ण साझेदार मानता है।

अनाम सैनिकों के स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद सिंह ने सोमवार को अपनी रूस यात्रा की शुरुआत की। क्रेमलिन पैलेस स्थित आरनेट एलेक्जेंडर हाल में मेदवेदेव भी सिंह के सम्मान में दोपहर का एक भोज आयोजित कर रहे हैं।

दोनों के बीच रविवार की रात हुई अनौपचारिक बातचीत में सिंह ने कहा कि मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि रूस के साथ संबंध बहुत महत्वपूर्ण हैं और विश्व के किसी देश के साथ हमारे इस प्रकार के संबंध नहीं हैं। रूसी राष्ट्रपति ने कहा कि इस संकट के बावजूद वर्ष 2009 में पहले नौ महीनों में हमारे बीच व्यापार आठ फीसदी बढ़ा है। मुझे आशा है कि इस वर्ष की समाप्ति तक इसमें और अधिक प्रगति होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ताकतवर रूस विश्व शांति के लिए महत्वपूर्णः पीएम