class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाबरी मस्जिद विध्वंस के दोषियों को सजा मिले: माले

भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी लेनिनवादी) ने बाबरी मस्जिद विध्वंस के दोषियों को सजा देने की मांग को लेकर आज राजधानी पटना में मौन सेकुलर मार्च निकाला।


बाबरी मस्जिद विध्वंस की 17वीं बरसी के मौके पर यहां के ऐतिहासिक गांधी मैदान के निकट जयप्रकाश नारायण की प्रतिमा स्थल से यह मौन सेकुलर मार्च शहर के विभिन्न मार्गों से होती हुई स्टेशन गोलंबर पहुंचकर एक सभा में तब्दील हो गई। मार्च का नेतृत्व भाकपा माले के राज्य सचिव नंद किशोर प्रसाद पोलित ब्यूरो सदस्य रामजतन शर्मा रामजी राय केन्द्रीय कमेटी के सदस्य कुणाल सरोज चौबे और समाज सेविका सुधा वर्गीज ने की।

 सभा को संबोधित करते हुए माले नेताओं ने कहा कि लिब्रहान आयोग की रिपोर्ट महज एक आइना है जिसमें देश की सांप्रदायिक ताकतों का कुत्सित चेहरा दिखाई पडता है। उन्होंने कहा कि इन ताकतों को दबोचे बगैर एक आधुनिक धर्मनिरपेक्ष और लोकतांत्रिक देश का निर्माण नहीं किया जा सकता है। इन देशी सांप्रदायिक ताकतों का विदेशी सम्राज्यवादी शक्तियों के साथ गठजोड़ है तथा इसके व्यापक पर्दाफांश के लिए जुझारू संघर्ष करने की जरूरत है। 
 

इस बीच जिला मुख्यालय आरा बिहार शरीफ, सीवान, मुजफ्फरपुर, बेगुसराय, भागलपुर और दरभंगा से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार माले कार्यकर्ताओं ने सेकुलर मार्च निकाला और लिब्रहान आयोग की रिपोर्ट में दोषी पाए गए भारतीय जनता पार्टी विश्व हिंदु परिषद और संघ परिवार के नेताओं के खिलाफ कडी कारवाई करने की मांग की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बाबरी मस्जिद विध्वंस के दोषियों को सजा मिले: माले