class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुश्किल समय में रुसी मदद को नहीं भूलेगा भारतः मनमोहन

मुश्किल समय में रुसी मदद को नहीं भूलेगा भारतः मनमोहन

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि भारत कभी भी रुस के साथ स्थापित मैत्री संबंधों की कीमत पर अन्य देशों के साथ संबंध नहीं बढ़ाएगा।

प्रधानमंत्री ने यह बात अपनी भारत-रुस वार्षिक सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए रुस की आधिकारिक यात्रा पर रवाना होने से पहले रुसी मीडिया को दिए साक्षात्कार में कही।

मनमोहन सिंह रविवार दोपहर में रुस की राजधानी मास्को पहुंचेंगे, जबकि रुसी राष्ट्रपति भवन क्रेमिलन में रुस के राष्ट्रपति दिमित्रि मेदवेदेवे के साथ उनकी आधिकारिक स्तरीय बातचीत सोमवार को शुरू होगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत के लोग इतिहास के मुश्किल दिनों में रुस से मिली मदद और सहयोग को कभी भुला नहीं सकते। रुस की तरह ही भारत भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बदलावों के मद्देनजर विभिन्न तरीके से अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करता है, जिसमें विश्व के अन्य देशों के साथ संबंध बहाली भी शामिल है।

उन्होंने कहा कि हालांकि हमारा इस बारे में रुख स्पष्ट है कि हम रुस के अपने पुराने संबंधों की कीमत पर विश्व के अन्य देशों के साथ संबंध नहीं बनाएंगे। विश्व शांति स्थायित्व एवं सुरक्षा में रुस की महत्वपूर्ण भूमिका है।

उन्होंने कहा कि वह अपनी इस यात्रा के दौरान मेदवेदेव के साथ इस विषय पर चर्चा करेंगे कि दोनों देशों के बीच सामिरक साझेदारी को अगले चरण में पहुंचाने के लिए क्या कदम उठाए जा सकते हैं।

डॉ. सिंह ने कहा कि भारत और रुस के बीच वार्षिक शिखर बातचीत दोनों देशों के बीच सामिरक साझेदारी को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा कि चाहे वह देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरु की वर्ष 1955 में की गई रुस यात्रा जैसे कार्यक्रमों से दोनों देशों के बीच संबंधों में और नजदीकी आई है।

उन्होंने कहा कि इस नए युग में रुस और भारत दोनों देशों के नागिरकों के बीच पूर्व समय के मैत्रीभाव का लाभ उठाते हुए दीर्घकालिक साझेदारी को कायम रखने में सफल होते हैं तो मुझे व्यक्तिगत रूप से बहुत खुशी होगी।

उन्होंने कहा कि मेदवेदेव और रुस के प्रधानमंत्री व्लादिमीर पुतिन दोनों भारत के गहरे मित्र हैं। मैं ईमानदारीपूर्वक यह आशा करता हूं कि मेरी इस यात्रा से दोनों देशों के बीच मित्रता और मजबूत होगी तथा रुस के साथ भारत की सामरिक साझेदारी और बढ़ने के साथ ही विस्तृत तथा व्यापक होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुश्किल समय में रुसी मदद को नहीं भूलेगा भारतः मनमोहन