class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घर बनाए नहीं पर खर्च कर दिए आवास योजना के करोड़ों रुपए

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री मायावती की सर्वोच्च प्राथमिकता वाली अम्बेडकर ग्राम विकास योजना में भी गड़बड़ी करने से घोटालेबाज बाज नहीं आ रहे। मकान बनाए ही नहीं गए और शासन को बता दिया कि मकान बन गए हैं। घोटालेबाजों ने ग्राम प्रधान और अफसरों की मिलीभगत से लाभार्थियों का पैसा निकाल लिया गया और उसे खर्च भी कर दिया। जब विभागीय मंत्री मौके पर पहुँचे तो मामला पकड़ में आया।

यह मामला वर्ष 2008 में चयनित लखीमपुर खीरी के अम्बेडकर गाँव सेमरी का है। यहाँ शासन ने 902 इंदिरा आवास स्वीकृत किए और 205 शुष्क शौचालयों के  निर्माण को स्वीकृति दी। इन कार्यो की प्रगति शासन समय-समय पर जिला प्रशासन से माँगता रहा। शासन को जिले से भेजी गई रिपोर्ट में कहा गया कि ये काम पूरे कर लिए गए हैं और इनके निर्माण की गुणवत्ता भी उत्तम है।

लेकिन क्षेत्रीय लोगों ने मुख्यमंत्री कार्यालय से  शिकायत की कि केवल 20 फीसदी ही इंदिरा आवास बनाए गए हैं। शुष्क शौचालयों की संख्या भी बहुत कम है। इस शिकायत के आधार पर अम्बेडकर ग्राम सभा विकास विभाग के मंत्री रतन लाल अहिरवार ने क्षेत्र का दौरा किया। दौरे में सब काम ठीक होने के प्रशासन के दावे की कलई खुल गई। यह भी साफ हो गया कि शासन को काम पूरा हो जाने से सम्बंधित जो रिपोर्ट भेजी गई थी वह झूठी थी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खर्च कर दिए आवास योजना के करोड़ों रुपए