class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेहतर प्रदर्शन करने वाले छात्र हुए पुरस्कृत

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की मैट्रिक व इंटर परीक्षा में टॉप-10 छात्रों को सम्मानित किया गया। प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद की जयंती समारोह के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में इन मेधावी छात्रों को सम्मानित कर उनका उत्साहवर्धन किया गया।

समिति द्वारा आयोजित राजेंद्र प्रसाद स्मृति व्याख्यान एवं पुरस्कार वितरण समारोह को संबोधित करते हुए मंत्री वृशिण पटेल ने कहा कि तेज-तर्रार व मेधावी लोगों के राजनीति में आने से निश्चित तौर समाज का भला होगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने सूबे के विकास का मॉडल तैयार कर लिया है। सरकर ने तीन लाख 40 हजार शिक्षकों को बहाल कर सूबे की शिक्षा व्यवस्था को पटरी पर लाने का प्रयास किया है।

मंत्री ने कहा कि निर्धन व मेधावी छात्रों को आगे बढ़ाने की जरूरत है। जिन लोगों के पास पैसा है वे अपने बच्चों को बेहतर शिक्षा तो उपलब्ध करा ही रहे हैं। शिक्षाविद प्रो.विनय कंठ ने कहा कि वर्तमान शिक्षा व परीक्षा पद्धति को छात्रों के हित से जोड़कर देखने की जरूरत है। व्यवस्था को चलाने की जिम्मेवारी जिस असंगठित क्षेत्र पर है आज उसकी स्थिति सबसे खराब है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए समिति के अध्यक्ष प्रो.ए.के.पी. यादव ने कहा कि परीक्षा समिति छात्रों को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने का पूरा प्रयास कर रही है। परीक्षा तकनीक में बदलाव का परिणाम इस बार के रिजल्ट में दिखा है। हम अधिक से अधिक छात्रों को सफल बनाने के लिए शिक्षण तकनीक व मूल्यांकन तकनीक में सुधार कर रहे हैं।

कार्यक्रम में पटना, पूर्णिया, लखीसराय, रोहतास, सीवान, सहरसा, मधेपुरा, मधुबनी, मुजफ्फरपुर व दरभंगा जिला को परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए पुरस्कृत किया गया। इसके अलावा सभी जिलों के एक स्कूल के प्राचार्य को बेहतर रिजल्ट के लिए सम्मानित किया गया। अतिथियों का स्वागत समिति के सचिव अनूप कुमार सिन्हा और धन्यवाद ज्ञापन शैक्षणिक निदेशक रघुवंश कुमार सिंह ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बेहतर प्रदर्शन करने वाले छात्र हुए पुरस्कृत