class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उल्फा प्रमुख राजखोवा ने कहा, गिरफ्तारी की खबर गलत

उल्फा प्रमुख राजखोवा ने कहा, गिरफ्तारी की खबर गलत

प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन उल्फा सरगना अरविंद राजखोवा ने दावा किया है कि उसकी गिरफ्तारी की खबर का मकसद भ्रम फैलाना और असम में शांति प्रक्रिया को पटरी से उतारना है।

राजखोवा ने एक टीवी चैनल से कहा कि मैं आपसे बांग्लादेश के उसी स्थान से बातचीत कर रहा हूं जहां से मैं सामान्य तौर पर बात किया करता हूं। जो लोग ऐसा कह रहे हैं कि मुझे गिरफ्तार कर लिया गया है वह निश्चित तौर पर भ्रम पैदा करने करने की कोशिश कर रहे हैं। वह असम में शांति वार्ता शुरू होने से पहले ही इसे पटरी से उतारना चाहते हैं।

राजखोवा(53) ने कहा कि वे लोग (विरोधी) समस्या का राजनीतिक और शांतिपूर्ण समाधान नहीं चाहते हैं। ऐसे लोग नहीं चाहते कि शांति प्रक्रिया सफल हो। हम हमेशा शांति प्रक्रिया को आगे बढ़ाना चाहते हैं। ऐसे लोग गलत सूचनायें फैला रहे हैं।

खुफिया सूत्रों ने कल कहा था कि राजखोवा ने अगरतला में भारतीय सुरक्षा बलों के समझ आत्मसमर्पण कर दिया है और त्रिपुरा की राजधानी से उसे कल देर शाम विमान द्वारा राष्ट्रीय राजधानी लाया जा रहा है। शीर्ष सरकारी सूत्रों ने यहां कहा था कि राजखोवा को बांग्लादेशी सुरक्षा एजेंसियों ने पकड़ लिया है और उसे ढाका में सुरक्षित स्थान पर रखा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उल्फा प्रमुख राजखोवा ने कहा, गिरफ्तारी की खबर गलत