class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक नौसेना मुख्यालय पर हमले में दो पुलिसकर्मी शहीद

पाक नौसेना मुख्यालय पर हमले में दो पुलिसकर्मी शहीद

पाकिस्तान के नौसेना मुख्यालय परिसर के द्वार पर बुधवार को यहां एक किशोर आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा दिया। इस हमले में नौसेना के दो पुलिसकर्मियों की मौत हो गई और 13 अन्य घायल हो गये।

पुलिस ने बताया कि इस दुस्साहसी हमले के लिए हमलावर मारगला रोड स्थित नौसेना मुख्यालय परिसर तक स्थानीय समय के मुताबिक दोपहर के डेढ़ बजे पैदल ही पहुंचा। जब सुरक्षाकर्मियों ने उस पर संदेह कर उसे रोका तो उसने खुद को उड़ा दिया। मारगला रोड राजधानी इस्लामाबाद का एक प्रमुख मार्ग है।
   
पुलिस उपमहानिरीक्षक (अभियान) बिन यामीन ने बताया कि वह नौसेना मुख्यालय में घुसने की कोशिश कर रहा था। जब सुरक्षाकर्मियों ने उसकी जांच करने की कोशिश की और उसका कोट उतारा तब उसने खुद को उड़ा लिया। हमलावर की तलाशी लेने वाले पुलिसकर्मी की मौके पर ही मौत हो गई और एक अन्य की अस्पताल में मौत हो गयी।

चार नौसैनिक जवानों और नौ नागरिकों सहित 13 अन्य लोग जख्मी हो गये। घटना के समय पास से गुजर रहे एक छह साल के बालक को सिर पर गंभीर चोटें आयीं और उसे सर्जरी के लिए अस्पताल पहुंचा दिया गया। गवाहों के मुताबिक हमलावर की उम्र करीब 17-18 साल थी।
   
इस हमले की जिम्मेदारी अभी तक किसी संगठन ने नहीं ली है। हालांकि, पाकिस्तान में श्रृंखलाबद्ध और आत्मघाती हमलों के लिये तालिबान को जिम्मेदार ठहराया जाता रहा है।

इस बीच, इस हमले के बाद कमांडो सहित सुरक्षा बलों ने नौसेना मुख्यालय की घेराबंदी कर दी। जांचकर्ताओं ने हमलावर के शव के टुकड़ों को एकत्र कर लिया है। नौसेना मुख्यालय के सामने पूरी सड़क पर मलबा बिखरा हुआ नजर आया। इस विस्फोट में कुछ कारों को भी नुकसान पहुंचा।

एक प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि उन्होंने हमलावर को नौसेना मुख्यालय परिसर के पास ग्रे रंग की एक गाड़ी से उतरते देखा था। इसके बाद कार चालक ने इलाके से रफूचक्कर होने की कोशिश की। गवाह ने कहा कि चालक ने गाड़ी को सड़क की गलत दिशा में मोड़ लिया और मेरी गाड़ी से टकरा गया, जब मैं ट्रैफिक लाइट पर रुका था।
   
नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन मोबीन बाजवा ने कहा कि सबसे बाहरी सुरक्षा घेरे पर ही हमलावर को रोक लिया गया था। नौसेना और पुलिस संयुक्त तौर पर घटना की जांच कर रहे हैं। बाजवा ने कहा कि सीसीटीवी कैमरे द्वारा ली गयी तस्वीरें जांच में मददगार होंगी।
   
पिछले कुछ हफ्तों में आतंकवादियों और आत्मघाती हमलावरों ने लाहौर में संघीय जांच एजेंसी कार्यालय और पुलिस प्रशिक्षण केंद्र तथा आईएसआई के पेशावर स्थित प्रांतीय मुख्यालय सहित कई सुरक्षा प्रतिष्ठानों को निशाना बनाया है। इन हमलों में कई लोग मारे गये।
   
गौरतलब है कि सुरक्षा बलों पर किये गये इनमें से कई हमलों की जिम्मेदारी तालिबान ने ली है। दक्षिण वजीरिस्तान स्थित कबाइली क्षेत्र में अक्टूबर में सेना का अभियान शुरू होने के बाद ये हमले शुरू हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाक नौसेना मुख्यालय पर हमले में दो पुलिसकर्मी शहीद