class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बलिया से अगवा छात्र की गला रेतकर हत्या

पांच लाख रुपये फिरौती के लिए बलिया के नरहीं थाना क्षेत्र से ग्यारह दिन पहले अगवा किये गये कक्षा सात के एक छात्र की गाजीपुर में गला रेतकर हत्या कर दी गयी। बोरे में भरा उसका शव बुधवार को नोनहरा क्षेत्र के खालिसपुर बवांड़े गांव के पास गंगा नदी से निकाला गया। बलिया एसओजी और नरहीं थाने की पुलिस ने इस मामले में दो अपहर्ताओं समेत पांच  आरोपितों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस के अनुसार बलिया जिले के नरहीं थाना क्षेत्र के शाहपुर बभनौली नईबस्ती निवासी बीएसएफ के रिटायर्ड मेजर जयगोविन्द राम का पुत्र पारस कुमार (14) कक्षा सात का छात्र था। गत 21 नवम्बर को पारस के चचेरे चाचा बब्बन राम ने अपने सहयोगियों के साथ नरहीं चट्टी से उसका अपहरण उस वक्त कर लिया जब वह स्कूल से घर लौट रहा था।

अपहर्ता छात्र को अम्बेसडर कार से गाजीपुर के नोनहरा थाना क्षेत्र महमूदपुर गांव ले आये और सीवान स्थित एक टय़ूबवेल की कोठरी में बंद कर दिया। अपहर्ताओं ने जब पारस के पिता जयगोविन्द राम से बेटे की जान बख्शने के लिए पांच लाख रुपये फिरौती मांगी तो उन्होंने इसकी सूचना नरहीं पुलिस को दी। इसके बाद बलिया एसओजी और नरहीं पुलिस सर्विलांस के जरिये अपराधियों तक पहुंचने के प्रयास में जुट गयी।

गत 28 नवम्बर को अपराधियों ने छात्र की गला रेतकर हत्या कर दी और उसके शव को बोरे में भरकर खालिसपुर बवांड़े गांव के पास गंगा नदी में फेंक दिया। उधर बलिया एसओजी ने नरहीं थाना क्षेत्र के सोबथां निवासी एक युवक को धर दबोचा और उसकी निशानदेही पर दो अपहर्ताओं चितबड़ागांव निवासी प्रदीप राम और फेफना के छोटू कुमार को मंगलवार की देर रात गिरफ्तार कर लिया।

इस मामले में गिरफ्तार एक अन्य आरोपित राजेश राम नोनहरा क्षेत्र के महमूदपुर गांव का निवासी है। दो अन्य आरोपितों के नाम-पते की जानकारी नहीं हो सकी। बलिया एसओजी के प्रभारी कमल यादव ने बताया कि आरोपितों की निशानदेही पर किशोर का शव बरामद किया गया और पकड़े गये लोगों के पास से तीन मोबाइल व चार सिम बरामद किये गये हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बलिया से अगवा छात्र की गला रेतकर हत्या