class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गन्ने पर अब होगा गुरिल्ला वारः अजित सिंह

रालोद मुखिया चौ. अजित सिंह ने मंगलवार को मेरठ में हुई कार्यकर्ताओं और किसानों की एक मीटिंग में ऐलान किया कि गन्ने पर शुरू हुई लड़ाई अभी किसान ने पूरी तरह जीती नहीं है। अजित ने कहा कि शामली चीनी मिल ने 205 से ज्यादा का भाव देने का भरोसा दिया है। मिलों में प्राइसवार भी होनी तय है। ऐसे में जो भी मिल सबसे ज्यादा भाव देगी वही भाव सभी चीनी मिलों से लिया जाएगा। इसके लिए वेस्ट में एक-एक चीनी मिल को टारगेट कर धरना-प्रदर्शन किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि कोर्ट को गन्ने का भाव तय करने का कोई संवैधानिक अधिकार नहीं है। छोटे चौधरी ने टिकैत को पूरी तरह राजनीतिक बताया और सरदार वीएम सिंह पर भी बिना नाम लिए कटाक्ष किए। उधर देर रात शामली शुगर मिल ने किसानों को 205-210 रुपए कुंतल का भाव देने की घोषणा कर दी।

मेरठ में सर्किट हाउस में हुई इस मीटिंग में तय किया गया कि अगला धरना किस चीनी मिल पर होगा यह फैसला बुधवार तक ले लिया जाएगा। अजित ने कहा कि वह गन्ने का कोई अधिकतम भाव घोषित करने वाले नहीं हैं, यह किसान ही तय करेंगे कि वह किस भाव पर संतुष्ट हैं।

उन्होंने कहा कि टिकैत ने राजनीतिक पार्टी बना रखी है और वह हर चुनाव में किसी न किसी को लड़ाते हैं, लेकिन खुद को अराजनीतिक बताते हैं। सरदार वीएम सिंह का नाम लिए बिना कहा कि कांग्रेस से जुड़े एक नेता 280 रुपए कुंतल का भाव मांगते हैं और कोर्ट जाने में माहिर हैं और किसानों को बांटने का काम करते हैं।

अजित सिंह ने कहा कि गन्ने में इतनी मिठास है कि बहुत लोग इसकी चाशनी में लिपट जाते हैं। मीटिंग में पार्टी महासचिव अनुराधा चौधरी, सांसद देवेन्द्र नागपाल, सांसद संजय चौहान, पूर्व विधायक डा. अजय कुमार, वेस्ट यूपी अध्यक्ष सत्यवीर त्यागी, वरिष्ठ नेता डा. राजकुमार सांगवान, एमएलसी हरपाल सैनी आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गन्ने पर अब होगा गुरिल्ला वारः अजित सिंह