class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बदरपुर बार्डर पर है पानी-माफियाओं की नजर

दिल्ली में पानी के रेट बढ़ने का असर फरीदाबाद में दिखाई देगा। टैंकर की मार्फत यहां से पानी की सप्लाई बढ़ जाएगी। दिल्ली जल बोर्ड से खरीदने की बजाय लोग फरीदाबाद से पानी की जरूरत पूरी करेंगे। दिल्ली बोर्ड के फैसले के बाद दिल्ली सीमा से सटे क्षेत्र में पानी माफिया कमाई के लिहाज से पानी का ज्यादा दोहन करेंगे। पहले से ही काफी पानी यहां से दिल्ली सप्लाई किया जाता रहा है।

मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा भी जिला प्रशासन को यहां लगे अवैध ट्यूबवेलों को बंद करने के आदेश दे चुके हैं। कार्रवाई स्वरूप प्रशासन ने दस से बारह ट्यूबवेल उखाड़ भी दिए थे। फरीदाबाद के गांव अनंगपुर, लकड़पुर, सराय ख्वाजा, पल्ला, सेहतपुर आदि दिल्ली सीमा से सटे हैं। यहां अवैध कालोनियां विकसित हो चुकी हैं। नगर निगम की पानी की सप्लाई पर्याप्त नहीं है। जरूरत पूरी करने को लोगों ने ट्यूबवेल लगा लिए हैं। जो टैंकर की मार्फत पानी सप्लाई करते हैं। चार सौ से लेकर पांच सौ रुपए तक पांच हजार लीटर पानी तक यहां सप्लाई किया जाता रहा है। जिसकी कीमत अब एक हजार रुपए प्रति टैंकर तक पहुंच गई है।

सीमा से सटी दिल्ली की घनी आबादी वाली कालोनियों में पानी की सप्लाई भी इन्होंने बढ़ा दी। इससे अच्छा मुनाफा पानी माफिया को होने लगा। अब दिल्ली जल बोर्ड ने पानी के रेट बढ़ाकर तीन गुणा कर दिए। जिसका फायदा फरीदाबाद के पानी माफिया को होगा। दिल्ली जल बोर्ड से खरीदने की बजाय लोग माफिया से पानी खरीदेंगे।

मुख्यमंत्री के आदेश के बावजूद जिला प्रशासन पहले भी अवैध ट्यूबवेलों को नहीं हटा पाया। अब भी ठोस कार्रवाई की उम्मीद कम है। दिल्ली सीमा से सटे फरीदाबाद के क्षेत्र में तीन सौ से ज्यादा ट्यूबवेल होने का अनुमान है।
 
नगर निगमायुक्त सीआर राणा के अनुसार, पानी का कारोबार करने वालों पर कड़ी नजर रखी जा रही है। मुख्यमंत्री के आदेश पर पहले भी अवैध काफी ट्यूबवेल उखाड़ दिए गए। अब भी ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई जारी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बदरपुर बार्डर पर है पानी-माफियाओं की नजर