class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रत्याशी घोषणा के साथ डूसू चुनाव की सरगर्मी बढ़ी

डूसू चुनाव की सरगर्मी शहर के कॉलेज और बॉर्डर से सटे इलाकों में दिखने लगा है। एनएसयूआई, एवीबीपी और इनसो ने प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है। जिले के छात्र संगठनों को डीयू के कॉलेजों में पढ़ रहे छात्रों को संपर्क करने का निर्देश पार्टी ने दिया है। ताकि अपने पक्ष में बड़ी संख्या में छात्रों की गोलबंदी की जा सके।

दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्रसंघ के चुनाव में यहां के राजनैतिक दल प्रमुख भूमिका निभाते आ रहे हैं। विधानसभा चुनावी सरगर्मी के बीच छात्र संगठन के जिलाध्यक्षों को शहर में रहने वाले छात्रों को संपर्क साधने का काम सौंपा गया है। डीयू छात्रों का ई-मेल आईडी, फोन नंबर और आरकुट के माध्यम से संपर्क साधने की कवायद शुरू हो गई है। फरीदाबाद, वल्लभगढ़ व पलवल से डीयू के कॉलेजों में पढ़ने बड़ी संख्या में छात्र जाते हैं।

इन छात्रों को पटाने के लिए राष्ट्रीय नेताओं का कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। पिछले साल छात्रों को अपने पक्ष में करने के लिए कांग्रेस पार्टी ने एक युवा राष्ट्रीय महासचिव का कार्यक्रम आयोजित किया था। इसका फायदा एनएसूयआई को मिला था। एवीबीपी के प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य मनोज खंडेलवाल कहते हैं कि आधुनिक संसाधनों के माध्यम से छात्रों को संपर्क साधने का काम शुरू कर दिया है।

एनएसयूआई ने एनसीआर में रहने वाले डीयू के छात्रों को हमेशा ठगा है। बेहतर ट्रासपोर्ट और छात्राओं के सुरक्षा का इंतजाम अभी तक नहीं हुआ है। यहां की छात्राएं कैब भाड़े पर कर दिल्ली पढ़ाई करने जाती है। इसका एनएसयूआई ने अभी तक समाधान नहीं कराया।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रत्याशी घोषणा के साथ डूसू चुनाव की सरगर्मी बढ़ी