class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वन विभाग ने वन क्षेत्र में अतिक्रमण हटाया

वन विभाग के अधिकारियों और पुलिस की टीम ने गुरुवार को मानेसर के पास स्थित कासन गांव में वन क्षेत्र में अतिक्रमण हटाया। अतिक्रमणकारियों ने वन क्षेत्र में कब्जा कर 500- 600 मीटर की जगह दीवार खड़ी कर घेर दी थी। फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर देवेन्दर राव के साथ उनकी टीम ने मानेसर के आस-पास के वन क्षेत्र में अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया।

वन क्षेत्र में विभाग इन दिनों अतिक्रमण हटाओ अभियान चला रहा है। देवेन्दर राव ने कहा कि गुड़गांव में जमीन कीमतों के बढ़ने का नतीजा है कि वन क्षेत्र भी अतिक्रमण से नहीं बच पा रहा है। वन क्षेत्र और अरावली पर सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद से किसी तरह की गतिविधि नहीं किए जाने का आदेश है।

बावजूद इसके अरावली पर कई काम हो रहे हैं। किसी किस्म की रिहाइशी या व्यापारिक गतिविधि अरावली पर नहीं हो सकती, मगर कई जगह दुकानें और मंदिर के आस-पास व्यवसायिक गतिविधि आम है। हालांकि अधिकारी इसे स्वीकारने से कतराते हैं, मगर फॉरेस्ट रिजर्व एरिया में कई जगह शराबखाने खुले हैं।

सूत्रों के अनुसार इन शराब की दुकानों पर भी गुरुवार को अतिक्रमण हटाया जाना था, मगर वन विभाग को पर्याप्त फोर्स नहीं मिल पाया इस कारण शराब की दुकानों पर अभियान नहीं चल पाया। अरावली में अवैध खनन से लेकर वन परिरक्षित क्षेत्र में शराब की दुकानें धड़ल्ले से चल रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वन विभाग ने वन क्षेत्र में अतिक्रमण हटाया