class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मारपीट व ज्यादती मामले में जांच के आदेश

उत्तर प्रदेश में ज्योतिबाफुलेनगर के मंडी धनौरा के कटरा निवासी नसीम की पिटाई तथा उस पर की गई ज्यादती मामले की जिलाधिकारी माहेश्वरी ने जांच के आदेश दिए हैं। जिलाधिकारी ने मामले की जांच अपर जिलाधिकारी को सौंपी है। सूत्रों के अनुसार नसीम ने उपजिलाधिकारी मंडी धनौरा कार्यालय में फैले भ्रष्टाचार की शिकायत लोकवाणी में की थी।
 
इससे चिढ़े उपजिलाधिकारी एम.एम.खान ने गत गुरुवार को पुलिस की मदद से उसे घर से उठवा लिया और अपनी भरी अदालत में उसकी कमर पर ईंटें रखवाकर तब तक मुर्गा बनाए रखा जब तक वह बेहोश नहीं हो गया। बाद में उसे शांति भंग के आरोप में जेल भेज दिया गया। जेल भेजने से पहले उसकी पिटाई की गई।
 
बार एसोसिएशन के असरपाल सिंह ने गुरुवार को  बताया कि नसीम को प्रताडि़त किया जाना कानून के खिलाफ तथा उपजिलाधिकारी द्वारा पद के दुरुपयोग की श्रेणी में आता है। जिलाधिकारी ने इस मामले की जांच अपर जिलाधिकारी को सौंपी है हालांकि नसीम के परिजनों को इस जांच से कोई उम्मीद नहीं है। उन्होंने न्याय के लिए मामले की पूरी रिपोर्ट मानवाधिकार आयोग को सौंपी है।
 
मंडीधनौरा तहसील के अधिवक्ता संघ ने परिसर में उपजिलाधिकारी के विरुद्ध जांच एवं कार्रवाई की मांग करते हुए नारेबाजी की जबकि भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) का धरना इस घटना के विरोध में आज दूसरे दिन भी जारी रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मारपीट व ज्यादती मामले में जांच के आदेश