class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पलकों की छांव में बसेरा..

पलकों की छांव में बसेरा..

एनडीटीवी इमेजिन पर इस महीने दो नए शो शुरू हुए हैं। पहले शो का नाम है ‘बसेरा’ और दूसरे का नाम है ‘पलकों की छांव में’।  दोनों शोज की कहानियों में भावना और नाटकीयता का भरपूर समन्वय दिख रहा है।

जानकारी के अनुसार, ‘पलकों की छांव में’ एक ऐसी अनाथ लड़की की कहानी है, जो प्यार करने और परिवार का प्यार पाने का सपना बुनती है। दूसरी कहानी ‘बसेरा’ चार परिवारों की एक प्रासंगिक और संवेदनशील कहानी है, जो मां-बाप और बच्चों के बीच नाजुक रिश्तों की तलाश करती है। ‘पलकों की छांव में’ एक अनाथ लड़की सुमन की मर्मस्पर्शी कहानी है, जिसका परिवार और प्यार पाने का सपना उस वक्त साकार हो उठता है, जब उसे एक अत्यंत ही प्यारे और परंपरागत किस्म के संयुक्त परिवार द्वारा अपना लिया जाता है।

‘बसेरा’ ऐसी कहानी है, जो वर्तमान समय में प्रासंगिक है। जैसे-जैसे भारत का शहरीकरण हो रहा है, परंपरागत संयुक्त परिवार एकल परिवारों में परिवर्तित होते जा रहे हैं। पुरानी पीढ़ी को एकाकीपन का दंश ङोलना पड़ रहा है। आगे जाकर शो में कई रोमांचक मोड़ आने वाले हैं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पलकों की छांव में बसेरा..