class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चुनाव परिणाम जानकर बदल गया मुख्यमंत्री का इरादा

विधानसभा उप चुनाव परिणाम बसपा के पक्ष में आते ही मुख्यमंत्री मायावती खुश हो गई। शायद इसीलिए उन्होंने अपना इरादा बदल दिया और करीब पौने घंटे के लिए प्रमुख सचिवों की समीक्षा बैठक में पहुँच गईं। हालांकि पूर्व में मुख्यमंत्री को ही यह समीक्षा बैठक लेनी थी। लेकिन बाद में उनका इस बैठक में भाग लेने का कार्यक्रम निरस्त हो गया था। इसी कारण उनका अधिकृत कार्यक्रम भी आरक्षित जारी हुआ। लेकिन जैसे ही उनको खबर मिली की बसपा ने उप चुनावों में चार में से तीन सीटें जीत ली हैं। उन्होंने अपने उच्चाधिकारियों को बताया कि वे समीक्षा बैठक में जाएँगी।

सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री का मूड अच्छा होने के कारण प्रमुख सचिवों को जितनी डाँट पड़नी थी उतनी नहीं पड़ी। फिर भी उन्होंने प्रमुख सचिवों और सचिवों से कहा कि जनहित की योजनाओं और कार्यक्रमों में वे खास रुचि लें। कभी-कभी फील्ड में भी औचक निरीक्षण करके सच्चाई जानते रहें। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रमुख सचिवों और सचिवों के स्तर से लापरवाही की उम्मीद नहीं की जानी चाहिए।

लेकिन ऐसा हुआ तो उनके खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई करने से वे नहीं चूकेंगी। मुख्यमंत्री के बाद कैबिनेट सचिव शशांक शेखर सिंह और मुख्य सचिव अतुल कुमार गुप्ता ने समीक्षा बैठक की। उन्होंने वरिष्ठ अफसरों को निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री की प्राथमिकता वाले कार्यक्रम और योजनाओं का लाभ संबंधित व्यक्ति तक पहुँचना चाहिए। इसमें लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसी के साथ हर माह की 15 और 16 को शासन स्तर पर की जाने वाली समीक्षा बैठकों का शासनादेश भी जारी कर दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चुनाव परिणाम जानकर बदल गया मुख्यमंत्री का इरादा