class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैंट पर जहरखुरान दंपति गिरफ्तार, सैकड़ों यात्रियों को बना चुका शिकार

जीआरपी कैंट ने बुधवार को जहरखुरान दंपति को एक यात्री को नशीला पदार्थ खिलाते वक्त रंगे हाथ धर दबोचा। पकड़े गए जहरखुरान सुनील साहनी व लक्ष्मी देवी पति-पत्नी हैं। उनके साथ तीन साल की बेटी भी है। खगड़िया बिहार के मूल निवासी जहरखुरान दंपति के पास से भारी मात्र में नशीला पदार्थ बरामद किया गया है। यह दंपति जहरखुरानी के आरोप में 14 महीने की जेल भी काट चुका है।

जीआरपी प्रभारी त्रिपुरारी पाण्डेय का दावा है कि इस दंपति की रेलवे पुलिस को काफी दिनों से तलाश थी। बीते वर्ष झंसी रेलवे पुलिस ने जहरखुरान दंपति का स्केच तैयार कराया था। स्केच के आधार पर पूरे प्रदेश में अभियान चलाया गया, लेकिन नतीजा सिफर रहा।

श्री पाण्डेय ने बताया कि बुधवार पूर्वाह्न11 बजे पार्सल कार्यालय के सामने गोरखपुर जाने वाली ट्रेन के इंतजार में एक मल्टीनेशनल कंपनी में सिक्योरिटी गार्ड मनोज अपनी पत्नी रेखा के साथ बैठा था। ठीक बगल में जहरखुरान दंपति भी अपना सामान लेकर मौजूद था। थोड़ी देर में दोनों परिवारों के बीच मेल-मिलाप के बाद जहरखुरान दंपति ने चाय पीने की इच्छा जताई।

जहरखुरान सुनील चाय लेने चला गया। बाद में सभी ने एक साथ चाय पी। चाय का स्वाद तीखा लगने पर रेखा ने चाय फेंक दी। थोड़ी देर में रेखा ने पति से चक्कर आने की शिकायत की। इस बीच जीआरपी टास्क फोर्स का सिपाही राकेश पटेल वहां से गुजर रहा था। अचानक महिला यात्री की तबीयत खराब देख वह रुक गया। पूछताछ में चाय पीने से तबीयत खराब होने की बात सामने आयी और मनोज ने चाय लाने वाले सुनील साहनी पर शंका जताई।

इस पर सिपाही ने सुनील के सामान की तलाशी ली, तो ‘एटीवान’ की गोली देख सिपाही सुनील व उसकी पत्नी दोनों को थाने ले गया। थाने में कड़ाई से पूछताछ में जहरखुरान दंपति ने स्वीकार किया कि वे अब तक सैकड़ों यात्रियों को शिकार बना चुके हैं। जीआरपी का दावा है कि यूपी में पहली बार जहरखुरान दंपति पकड़ा गया है। उनके पास से डाइजीपॉम, एटीवान जैसी नशीली दवाइयों के एक दजर्न पैकेट, कानपुर में यात्री का लूटा गया बैग एवं अन्य सामान बरामद हुआ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कैंट पर जहरखुरान दंपति गिरफ्तार