class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गायब इजीनियर को दो साल तक वेतन..

अगर निगम के आंकड़ों को माने तो एक इंजीनियर पिछले पांच साल से गैर-हाजिर चला आ रहा है और दो साल तक वह वेतन भी लेता रहा है। दिलचस्प यह है कि इसके बाद का निगम के पास उसका रिकार्ड ही नहीं है। यह मामला कर्मचारियों का रिकार्ड रखने के मामले में निगम की लचर हालत का खुलासा करता है।

आरटीआई की एक सूचना के मुताबिक, निगम में तैनात जेई सैय्यद नसरूल हसन पिछले 35 सालों से निगम में काम कर रहा है और इसी महीने रिटायर होने वाला है, लेकिन उनके सेवाकाल के दौरान के कारनामों पर अंकुश लगाने में निगम नाकाम रहा है। सूचना में बताया गया है कि यह इंजीनियर 12 फरवरी 2004 से  पहली मई 2009 तक गैर हाजिर है। साथ ही इस इंजीनियर को उपायुक्त की मंजूरी से मार्च 2006 तक वेतन दिया गया है।

हालाकि अधिकारियों का कहना है कि संभव है कि दो साल तक वेतन उसे छुट्टियों के एवज में दिया गया है लेकिन इसके बाद के रिकार्ड को लेकर निगम ने हाथ खड़े कर दिए हैं। इंजीनियर की सर्विस बुक व निजी फाइल का रिकार्ड भी उपलब्ध नहीं है और न ही इंजीनियर ने नियुक्ति से लकर अपनी संपत्ति का कोई ब्यौरा भी नहीं दिया है। कई बार निलंबित भी किया गया है और सीबीआई ने छापे में कई दस्तावेज भी उससे बरामद किए थे।

उधर इंजीनियर नसरूल हसन का कहना है कि वह पिछले काफी समय से बीमार चल रहा है और इस बारे में निगम को सूचना भी देता रहा है और निगम के पास रिकार्ड नहीं है तो यह उसकी जिम्मेदारी नहीं है। सीबीआई का मामला बंद हो चुका है।

सवाल यह नहीं है कि इस इंजीनियर ने निगम को चूना लगाया है बल्कि ऐसे कितने ही कर्मचारियों के मामले में निगम की मुस्तैदी का पता चलता है। इंजीनियरिंग विभाग हमेशा से भ्रष्टाचार के मामलों में निशाने पर है। समझ जाता है निगम के 1100 सौ इंजीनियर्स में नौ सौ ज्यादा दागी रहे हैं।

निगम में कर्मचारियों की हाजिरी के फर्जीवाड़े की कहानी किसी से छिपी नहीं है। सफाई विभाग और उद्यान विभाग में मालियों द्वारा फर्जी तरह से वेतन लेने का मामला भी जगजाहिर रहा है। हालाकि पिछले दिनों कर्मचारियों की सही संख्या का पता लगाने के लिए निगमायुक्त के.एस.मेहरा ने पहल की थी लेकिन अभी तक यह आंकड़ा उपलब्ध नहीं हो पाया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गायब इजीनियर को दो साल तक वेतन..