class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्क्वायड ने दर्ज किए सीनियर्स के बयान, एंटी रैगिंग कमेटी ने कुलपति को सौंपी रिपोर्ट

बीएचयू-आईटी के लिम्बडी छात्रवास में रहने वाले कुछ छात्रों के साथ पिछले दिनों फोन पर हुई कथित रैगिंग के मामले में विश्वविद्यालय के एंटी रैगिंग स्क्वायड ने गुरुवार को सीनियर्स के बयान दर्ज किए। दूसरी ओर संस्थान की एंटी रैगिंग कमेटी ने अपनी जांच रिपोर्ट कुलपति को सौंप दी है।

स्क्वायड के चेयरमैन प्रो. जीएस यादव ने बताया कि पांच सीनियर्स के बयान दर्ज किए गए, जिन पर फोन पर फ्रेशर्स को धमकाने का शक है। जांच प्रक्रिया पूरी होने पर रैगिंग में लिप्त सीनियर्स के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

इस दौरान स्क्वायड के सदस्य प्रो. एमएस पाण्डेय, प्रो. एसपी सिंह, प्रो. उषा किरन राय, प्रो. सुषमा त्रिपाठी, डा. राजेन्द्र प्रसाद व डा. आरएन सिंह आदि मौजूद रहे। 9 अगस्त को लिम्बडी में रह रहे नव प्रवेशी छात्रों को मोबाइल पर कुछ सीनियर्स ने कथित तौर पर अपशब्द कहने के साथ रैगिंग की धमकी दी थी। भुक्तभोगी ने एंटी रैगिंग स्वायड के चेयरमैन प्रो. जीएस यादव को फोन पर घटना की जानकारी दी थी।

बीएचयू के प्रेस, पब्लिकेशन व पब्लिसिटी सेल के चेयरमैन प्रो. राजेश सिंह ने बताया कि किसी भी कार्रवाई का निर्णय विश्वविद्यालय की एंटी रैगिंग कमेटी की बैठक में लिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीएचयू-आईटी में फोन से रैगिंग का मामला