class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नासा की प्रौद्योगिकी रोक सकती है एच1एन1 का प्रसार

नासा की प्रौद्योगिकी रोक सकती है एच1एन1 का प्रसार

एच1एन1 फ्लू के भारत में बढ़ते प्रकोप के बीच एक प्रौद्योगिकी कंपनी ने दावा किया है कि दवा से जहां एच1एन1 का इलाज किया जा सकता है वहीं नासा विकसित प्रौद्योगिकी ‘एयरोसाईड’ से एच1एन1 को फैलने से रोका जा सकता है।

भारत में एयरोसाईड की एकमात्र वितरक ग्रेट व्हाईट टेक्नॉलाजीस कंपनी के अनुसार एयरोसाईड एनकंडीशनिंग यानी एनवायरनमेंट कंडीशनिंग नामक एक प्रक्रिया का इस्तेमाल करती है जो कुछ वर्ष पहले नासा के वैज्ञानिकों ने पौधों और फल सब्जियों की उम्र बढ़ाने के लिए एयर मैनेजमेंट सिस्टम तैयार करते समय विकसित की थी। कंपनी के अनुसार एनकंडीशनिंग प्रणाली में हर तरह के विषाणुओं और बीमारी फैलाने वाले सूक्ष्म जीवाणु को मार सकती है। एंथ्रेक्स जैसे घातक जीवाणुओं को भी इस प्रणाली से रोका जा सकता है और एच1एन1 वायरस को भी।

कंपनी ने दावा किया है कि पिछले 2 महीनों में दुनिया भर में 30 हजार एयरोसाईड मशीनें लगाई जा चुकी हैं जिनमें से एक हजार मशीनें भारत में हैं। वाकहार्ड के सहायक उपाध्यक्ष डॉ. करंजीकर के अनुसार मशीन का इस्तेमाल अस्पताल के माहौल में सुधार के लिए किया जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नासा की प्रौद्योगिकी रोक सकती है एच1एन1 का प्रसार