class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूल की छत गिरने से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की मौत

प्राथमिक विद्यालय के जर्जर भवन के बरामदे की छत गिरने से मौके पर ही दलित आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की मौत हो गई तथा आशाबहू समेत चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। घटना की सूचना मिलने पर मौके पर अपर जिलाधिकारी व अपर पुलिस अधीक्षक समेत कई अधिकारी पहुँचे तथा घटनास्थल का जायजा लिया। विद्यालय के निर्माण प्रभारी को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है। वहीं प्रकरण की जाँच जिला समन्वयक निर्माण को सौंपी गई है।

पल्स पोलियो अभियान के तहत विकास खण्ड रुपईडीह के प्राथमिक विद्यालय दलपतपुर के जर्जर भवन के बरामदे में पोलियो बूथ बनाया था जिसमें बूथ कार्यकर्ता बैठे थे। इसी बीच बरामदे की जर्जर छत ढह गई। बताया जाता है कि यह विद्यालय वर्ष 1995 में बनकर तैयार हुआ था। छत ढहने से उसके नीचे दबकर दलित आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मंजू देवी पत्नी सत्यनरायन पासवान उम्र 28 वर्ष की मौत हो गई। इसके अलावा इस घटना में आशाबहू गीता सिंह उम्र 36 वर्ष, आशाबहू की सात वर्षीय पुत्री ज्ञानमती, वहाँ मौजूद 14 वर्षीय संजय प्रताप यादव, 22 वर्षीय पूनम गंभीर रूप से घायल हो गईं।

इस घटना की सूचना पर घायलों को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र रुपईडीह में भर्ती कराया गया जहाँ स्थिति गंभीर होने पर सभी घायलों को जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया गया जहाँ इनका इलाज चल रहा है। मृतका आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मंजू देवी के शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

थानाध्यक्ष इटियाथोक संजय कुमार पाण्डेय ने बताया कि मामले में कार्रवाई की जा रही है। उधर घटनास्थल का अपर जिलाधिकारी सुखलाल भारती, अपर पुलिस अधीक्षक मानिकचन्द सरोज, उपजिलाधिकारी नागेन्द्र सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ. अमरकांत सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी मोहम्मद जफर खान ने निरीक्षण किया।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ. अमरकांत सिंह ने बताया कि यह विद्यालय वर्ष 1990 का है। इसका निर्माण कार्य वर्ष 1995 में पूरा हुआ। विद्यालय के निर्माण में मानक की अनदेखी की गई है। उन्होंने बताया कि निर्माण के दौरान पर्यवेक्षण करने वाले अधिकारी के विरुद्ध भी कार्रवाई की जा रही है।

दूसरी तरफ माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलामंत्री विनय कुमार शुक्ला ने विद्यालय भवन ढहने को लेकर जिम्मेदार लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराने व दस लाख का मुआवजा दिए जाने की माँग की है।इसके साथ ही सभी घायलों को एक लाख रुपए अनुग्रह राशि दिए जाने एवं नि शुल्क उपचार कराए जाने एवं घटना की मजिस्ट्रेटी जाँच की भी माँग की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्कूल की छत गिरने से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की मौत