class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आतंकी के साथ एनसीआर पर नक्सली खतरा भी बढ़ा

एनसीआर पर आतंकी खतरा तो बना हुआ है ही इस खतरे को माओवादियों व नक्सलियों की सक्रियता ने और बढ़ा दी है। स्वतंत्रता दिवस व कृष्ण जन्माष्टमी वे कोई खुराफात नहीं कर सकें। इसके लिए गृहमंत्रलय ने इंटेलीजेंस ब्यूरो और प्रदेश की पुलिस को विशेष तौर पर चौकस रहने को कहा गया है।

स्टेट खुफिया विभाग के अफसरों के निर्देश पर स्थानीय एजेंटों ने आतंकियों, मावोवादियों व नक्सलियों के संभावित ठिकानों पर नजर रखनी शुरु कर दी है। उन्हें विशेष तौर से श्रमिक संगठनों और बाहर से आने वाले मजदूरों पर नजरें रखने हिदायत दी गई है। वैसे गृहमंत्रलय हरियाणा में माओवादियों की बढ़ी सक्रिया के प्रति पहले भी चिंता प्रकट कर चुका है।

एनसीआर की सुरक्षा को लेकर हाल में  एनसीआर के सभी जिलों के पुलिस अधिकारियों की एक इंटरस्टेट मीटिंग दिल्ली में हुई थी। जिसमें फरीदाबाद के पुलिस कमिश्नर भी मौजूद थे। बैठक में स्वतंत्रता दिवस व कृष्ण जन्माष्टमी के मद्देनजर विशेष चौकसी बढ़ाने की हिदायत दी गई थी। उस बैठक के बाद ही स्थानीय खुफिया विभाग अलर्ट हो गया है।

आईबी के एक अधिकारी के मुताबिक गृह मंत्रलय ने एनसीआर में आतंकी हमले होने की अशंका जाहिर की है। जबकि स्टेट खुफिया विभाग से जुड़े एक असफर का  कहना है कि गृह मंत्रलय ने मावोवादियों और नक्सलियों पर विशेष नजर रखने को कहा है। जानकारी के मुताबिक, गृहमंत्रलय ने सकरुलर जारीकर आईबी, स्टेट पुलिस को मावोवादियों पर खास नजर रखने को कहा है।

अशंका है कि उत्तर पूर्वी प्रदेशों से खदेड़े जाने वाले मावोवादी व नक्सली एनसीआर में छिप सकते हैं। इसके अलावा हरियाणा के जाट लैंड में माओवादियों के घुसपैठ की खबर पहले भी आती रही है। नक्सलियों के श्रमिक संगठनों के बीच घुसपैठ की आशंका के मद्देनजर ही तत्ताकाली एसएसपी श्रीकांत जाधव ने शहर में आने वाले मजदूरों पर नजर रखने की खास योजना बनाई थी।

श्रमिक संगठनों के लीडरों को संदिग्ध आचरण वाले मजदूरों के बारे में जानकारी देने को कहा था। सीआईडी के एसपी सिक्योरिटी सुखदेव सिंह भी माना कि सुरक्षा कड़ी करने को सकरुलर जारी किए गए हैं।  हरियाणा के यमुनानगर, फरीदाबाद, गुड़गांव, हिसार व सोनीपत में मावोवादियों की मौजूदगी के आशंका के चलते खुफिया विभाग वाले यहां ज्यादा चौकस हैं।

हाल में फरीदाबाद के बदरपुर बार्डर इलाके से दो मावोवादी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। इस बारे में पूछने पर डीआईजी सीआईडी बलबीर सिंह विभागीय योजना का खुलासा नहीं किया। श्रमिक नेता बेंचू गिरी भी मानतें है कि श्रमिक संगठनों में मावोवादियों की सक्रियता बढ़ रही है। एक संगठन का नाम लेते हुए उन्होंने कहा कि इस संगठन के ज्यादातर सदस्य नक्सली प्रवृत्ति के हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आतंकी के साथ एनसीआर पर नक्सली खतरा भी बढ़ा