class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकारी बैंक कर्मचारी हड़ताल पर, एटीएम पर उमड़ी भीड़

सरकारी बैंक कर्मचारी हड़ताल पर, एटीएम पर उमड़ी भीड़

देश भर में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक कर्मियों की वेतन बढ़ोतरी समेत अन्य मांगों को लेकर गुरुवार से दो दिवसीय हड़ताल पर चले जाने से देश में बैंकिंग परिचालन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। एटीएम और निजी क्षेत्र के ज्यादातर बैंकों ने उपभोक्ताओं को काफी राहत प्रदान की। मुम्बई, दिल्ली, कोलकाता और चेन्नई सहित विभिन्न शहरों से मिली रिपोर्टों के मुताबिक, सरकारी बैंकों में चेक क्लियरिंग परिचालन, विदेशी मुद्रा एवं मुद्रा बाजार के परिचालन और सरकारी लेनदेन प्रभावित हुए।

यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियंस (यूएफबीयू) के संयोजक सी एच वेंकटचलम ने कहा कि हम आज से हड़ताल पर हैं क्योंकि इंडियन बैंक एसोसिएशन (आईबीए) बैंक यूनियंस की वेतन बढ़ोतरी की मांग को स्वीकार नहीं किया है।

दूसरी ओर, उपभोक्ता नकदी की जरूरतों के लिए बहुत हद तक एटीएम पर निर्भर रहे। आईसीआईसीआई बैंक और विदेशी बैंकों ने ग्राहकों पर हड़ताल के असर को कुछ हद तक कम किया। लेकिन बैंकिंग परिचालन पर इस हड़ताल का काफी असर रहा क्योंकि देश में बैंकिंग व्यवसाय में करीब 70 फीसद हिस्सेदारी सरकारी बैंकों की है।

यूएफबीयू नौ बैंक यूनियनों का महासंघ है और उनका दावा है कि उसके सदस्यों में सार्वजनिक, निजी और विदेशी बैंकों के कर्मचारी शामिल हैं। यूएफबीयू ने दावा किया है कि अधिकारियों समेत कम से कम 10 लाख कर्मचारी हड़ताल में शामिल हो रहे हैं।

उधर, चंडीगढ़ से मिली रिपोर्ट के अनुसार चंडीगढ़, पंजाब और हरियाणा में हड़ताल के कारण बैंकिंग सेवा अस्त-व्यस्त रही। विभिन्न बैंक शाखाओं में सूनापन दिखा और कहीं-कहीं केवल शाखा प्रबंधक ही कार्यालय में देखे गये। केरल और कर्नाटक में भी हड़ताल के कारण बैंकिंग सेवा प्रभावित हुईं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकारी बैंक कर्मचारी हड़ताल पर, एटीएम पर उमड़ी भीड़