class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मलबा हटाने का काम तेज, श्रीधरन का दौरा

मलबा हटाने का काम तेज, श्रीधरन का दौरा

दिल्ली मेट्रो रेल निगम के प्रमुख ई श्रीधरन ने सोमवार को स्थिति का जायजा लेने के लिए घटनास्थल का दौरा किया, जहां एक निर्माणाधीन पुल के ढ़ह जाने से छह लोगों की मौत हो गई थी। हादसे वाली जगह पर इस समय मलबा हटाए जाने का काम चल रहा है।

घटना की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए श्रीधरन ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था जिसे दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने नामंजूर कर दिया। रविवार रात बारिश की वजह से घटनास्थल पर मलबा हटाने के काम में बाधा आ गई थी जो अब फिर से शुरू हो गया है। इस काम में बड़ी-बड़ी क्रेनें लगी हैं।

मेट्रो पुल का खंभा पानी की पाइपलाइन पर गिर जाने से आसपास के क्षेत्रों में जलापूर्ति भी बाधित है। व्यस्त नेहरू प्लेस क्षेत्र में यातायात व्यवस्था लगातार चरमराई हुई है और पुलिस ने लोगों को जमरूदपुर लेडी श्रीराम कॉलेज मार्ग से बचने की सलाह दी है।

दुर्घटना के कारणों की जांच के लिए दिल्ली मेट्रो रेल निगम ने एक चार सदस्यीय समिति गठित की है जो 10 दिन में अपनी रिपोर्ट सौंप देगी। श्रीधरन ने इस दुर्घटना को पिछले साल लक्ष्मीनगर में हुए हादसे से अधिक गंभीर बताया था और पूर्ण नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए रविवार को ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।

दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने हादसे पर चर्चा के लिए बीती रात हुई उच्चस्तरीय बैठक में हालांकि श्रीधरन के त्यागपत्र को नामंजूर कर दिया। उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि दिल्ली सरकार ने श्रीधरन का इस्तीफा इसलिए स्वीकार नहीं किया क्योंकि कि उसे लगता है कि 2010 के राष्ट्रमंडल खेलों से पहले दिल्ली मेट्रो से संबंधित परियोजनाओं को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए मेट्रो मैन को बनाए रखना जरूरी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मलबा हटाने का काम तेज, श्रीधरन का दौरा