class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यात्रियों को बस ऑपरेटरों के हाथों लुटने से बचाने के लिए राज्य के सभी निजी बस स्टैंडों में किराया तालिका लगाना अनिवार्य कर दिया गया है। परिवहन विभाग ने क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकार (आरटीए) के सचिवों और जिला परिवहन पदाधिकारियों को सभी बस पड़ावों पर अलग-अलग स्थानों के किराये की तालिका लगवाने, यात्रियों द्वारा निजी बसों में दूरी आधारित किराये का भुगतान सुनिश्चित कराने, बस की छतों पर यात्रियों को सफर करने से रोकने और मनमाना किराया वसूलने वाले बस मालिकों के खिलाफ कठोर कार्रवाई के आदेश दिये हैं।
   
भाजपा के बरौनी नगर मंडल के महामंत्री प्रशान्त कुमार ने परिवहन मंत्री से बसों की छत पर यात्रियों के सफर करने, बस पड़ावों में गड़बड़ी, किराया तालिका नहीं होने और यात्रियों से मनमाना किराया वसूलने की शिकायत की। भाजपा नेता की शिकायत पर हरकत में आते हुए परिवहन विभाग के उप सचिव ने जिलों में तैनात अफसरों को शिकायतों पर कार्रवाई के आदेश दिये हैं। राज्य के विभिन्न जिलों में छोटे-बड़े बस स्टैंडों की संख्या 100 से अधिक है जहां जिला प्रशासन द्वारा बसों से प्रतिदिन स्टैंड शुल्क की वसूली होती है। पटना को छोड़कर अधिकतर जिलों में किराया तालिका नहीं लगी है। बसों की छत पर यात्रियों को बैठाना भी आम समस्या है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बस स्टैंडों में लगेगी किराया सूची