class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पर्यटक सूचना केंद्र कर रहे पर्यटन प्रदेश की वकालत

जिले में लाखों रूपयों की लागत से बने पर्यटक सूचना केंद्र पर्यटन प्रदेश की वकालत कर रहे हैं। अराजक तत्वों ने इन सूचना केन्द्रों को भारी नुकसान पहुंचा दिया है। जिसके चलते अब यह खंडहर में तब्दील हो गए हैं। जिला प्रशासन अराजक तत्वों का चिन्हित तक नहीं कर सका है।जिले में पर्यटकों की आवाजाही को देखते हुए पिछली सरकार ने लाखों रूपये की लागत से तीन पर्यटक सुविधा केंद्रों का निर्माण किया।

उचित देखरेख और गलत निर्णय के चलते यह सुविधा केंद्र लम्बे समय तक शोपीस बने रहे। जिले में पर्यटकों की सुविधा के मद्देनजर कौसानी, फटगली तथा घिंघारूतोला नामक स्थान पर पर्यटक सुविधा केंद्रों का निर्माण हुआ। तब एक सुविधा केंद्र में करीब दस लाख रूपये खर्च आया। कुमाऊं विकास मंडल निगम को इनके देखरेख की जिम्मेदारी सौंपी गई। इन केंद्रों में से एक मात्र कौसानी स्थित केंद्र ही ठीक चल रहा है। बागेश्वर-गरूड़ मोटर मार्ग में फटगली स्थित सुविधा केंद्र के हाल बेहाल हो गए हैं।

अराजक तत्वों ने सीसे तोड़ दिए हैं और दरवाजों व खिडकियों को उखाड़ फैंका दिया है। इस सुविधा केंद्र की हालत वर्तमान में खंडहर तब्दील होकर रह गई है। प्रशासन शरारती तत्वों को पकड़ने के लिए कुछ भी नहीं कर सका है। इसके अलावा घिंघारूतोला स्थित केंद्र की स्थिति भी खासी खराब चल रही है। करीब 30 लाख रूपये से बने यह तीनों केंद्र अब शोपीस बनकर रह गए हैं।

जनता का कहना है कि सरकार यदि इन केंद्रों को पूर्व में ही सस्ते दामों पर बेरोजगारों को रोजगार के लिए सौंप देती तो आज इनकी यह दुर्दशा नही होती। पूर्व में कई बेरोजगारों ने कुमाऊं मंडल विकास निगम से किराए पर ये केन्द्र दिए जाने को आवेदन भी किए, लेकिन बेरोजगारों को इसका लाभ नहीं मिल सका है। इधर क्षेत्रीय विधायक चंदन राम दास का कहना है कि कांग्रेस सरकार की गलत सोच के कारण ऐसे स्थानों पर केंद्रों का निर्माण किया गया है। जहां इंसान नाम की चीज भटकती तक नहीं है। उन्होंने कहा कि जल्द ही इन केंद्रों की देखभाल हेतु उचित कार्यवाही की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पर्यटक सूचना केंद्र कर रहे पर्यटन प्रदेश की वकालत