class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बरकरार रह सकती है 8.9 फीसद की वद्धि दर: पीएम

बरकरार रह सकती है 8.9 फीसद की वद्धि दर: पीएम

भले ही वैश्विक अर्थव्यवस्था पर अनिश्चितता के बादल मंडरा रहे हों, प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को भरोसा है कि भारत 8.9 फीसद की आर्थिक वद्धि दर बनाए रख सकता है। उन्होंने कहा कि उन्हें विश्वास है कि भारत मजबूती के साथ संकट से उबर जाएगा, लेकिन आगे की राह कठिन है।

मनमोहन ने कहा कि आगे की राह आसान नहीं है, लेकिन मुझे भरोसा है कि भारत की बचत दर जो सामान्य पूंजी आउटपुट अनुपात 4:1 के साथ 35 फीसद ऊंची है और हमें थोड़ी कोशिशों के साथ करीब 8.9 फीसद की वद्धि दर बनाए रखने में सक्षम होना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जी-8 और जी-5 नेताओं के बीच विचार-विमर्श के बाद मुझे लगता है कि अर्थव्यवस्था के मंदी से उबरने के कुछ संकेत मिले हैं, फिर भी विश्व अर्थव्यवस्था को पहले की तरह वद्धि दर हासिल करने में वक्त लगेगा।

मनहोहन ने कहा कि स्वदेश वापस लौटते समय उन्हें भरोसा है कि भारत को 8.9 फीसद की वद्धि दर हासिल करने में मजबूत कदमों को उठाना जारी रखना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आगामी कुछ समय के लिए अंतरराष्ट्रीय माहौल उतना अनुकूल नहीं होगा जितना पहले था। फिर भी मुङो विश्वास है कि हमारी घरेलू अर्थव्यवस्था मजबूत होगी जिससे हम पहले की तरह तेज एवं समावेशी वद्धि दर की पटरी पर लौटने में सक्षम होंगे।

मनमोहन जी-8 और जी-5 समिट में अपने बयान में कह चुके हैं कि भारत का निर्यात प्रभावित हुआ है, विदेशी पूंजी का प्रवाह घटा है और विकासशील देशों के लिए अंतरराष्ट्रीय बैंकों द्वारा उधारी में कमी आई है। उन्होंने कहा कि इसलिए हमारे समक्ष चुनौती वद्धि दर में तेजी लाने और उसे बनाए रखने की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बरकरार रह सकती है 8.9 फीसद की वद्धि दर: पीएम