class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अरशद की कॉमेडी और अमृता के ग्लैमर का शॉर्टकट

अरशद की कॉमेडी और अमृता के ग्लैमर का शॉर्टकट

सितारे :  अक्षय खन्ना, अरशद वारसी, अमृता राव, चंकी पांडे और सिद्धार्थ रांडेरिया
निर्माता/बैनर : अनिल कपूर / स्टूडियो 18 और अनिल कपूर फिल्म्स कंपनी 
निर्देशन एवं संवाद : नीरज वोरा
लेखक : अनीज बजमी  
गीत :  जावेद अख्तर
संगीत : शंकर-एहसान-लॉय

कहानी :  बहुत सारे लोगों की तरह बॉलीवुड में दो कलाकार राजू (अरशद वारसी) और शेखर (अक्षय खन्ना) अपनी किस्मत के जगने की आस में एक कोने से दूसरे कोने धक्के खाते नजर आते हैं। शेखर के पास लेखन और निर्देशन की कला तो है पर वह पेशेवर समझौते नहीं करता। तो उधर राजू के पास प्रतिभा की कमी है। बावजूद इसके राजू जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए शॉर्टकट्स का इस्तेमाल बखूबी जनता है। एक दिन इसी शॉर्टकट को अपनाकर वह हीरो बन जाता है और शेखर वहीं का वहीं रह जाता है। इन दोनों के बीच इंडस्ट्री की एक सफल अदाकारा मानसी (अमृता राव) शेखर को अपना दिल दे बैठती है और उससे शादी कर लेती है, लेकिन यह शादी ज्यादा दिनों तक नहीं टिकती। वक्त और हालात शेखर को फिर से संघर्ष करने पर मजबूर कर देते हैं और एक दिन जब उसके पास तोलानी (टिक्कू तलसानिया) की एक बड़ी फिल्म को निर्देशित करने का मौका आता है तो तोलानी की मौत हो जती है। शेखर राजू के साथ काम करने पर मजबूर हो जता है और उसे राजू को बतौर हीरो लेकर फिल्म बनानी पड़ती है, पर राजू शेखर को सफल होते नहीं देखना चाहता।

निर्देशन :  कॉमेडी फिल्मों की श्रृंखला में नीरज वोरा के पास ‘फिर हेरा फेरी’,  जो कि ‘हेरा फेरी’ का सीक्वल थी, जैसी बड़ी हिट फिल्म है, लेकिन ‘शॉर्टकट’ में वह अपना जादू पूरी तरह से दोहरा नहीं सके। हालांकि अनीज बजमी की कहानी में दम तो था, पर नीरज कई जगहों पर भटक गये। फिल्म की शुरूआत को उन्होंने कॉमेडी की चाशनी के साथ बखूबी पेश किया, लेकिन इंटरवल से पहले कहानी गंभीर होने लगी और इंटरवल के बाद फिर से फन अनलिमिटेड शुरू हुआ।
 
अभिनय :  कॉमेडी के मामले में अरशद वारसी खूब जमे। वह पूरी फिल्म में छाए रहे। अक्षय खन्ना कॉमेडी में जमते, पर वह झुंझलाने के सिवाय कुछ न कर सके। हालांकि उनके खाते में कुछ अच्छे गंभीर दृश्य जरूर आये। अमृता राव ने अपनी नॉन ग्लैमरस छवि को तोड़ते हुए हॉट पैन्ट्स और माइक्रो मिनी में गजब का ग्लैमर पेश किया है। पर उनके खाते में भी अभिनय की गुंजाइश कम रही। चंकी पांडे बस ठीक-ठाक ही रहे।

गीत-संगीत : ‘पतली गली से निकल भी जा’  बीट्स बेस्ड गीत है। इसके बोल टपोरी स्टाइल के हैं, सो यह फिल्म को सपोर्ट करता है।

क्या है खास : अरशद की कॉमेडी और ग्लैमरस अवतार में अमृता राव।

क्या है बकवास : क्लाइमैक्स की रोचकता को जल्दबाजी में समेटा है।  

पंचलाइन :  कॉमेडी और गंभीर लम्हों को शॉर्टकट में निपटाने की कोशिश। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अरशद की कॉमेडी और अमृता के ग्लैमर का शॉर्टकट