class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तालिबान-अमेरिका के बीच मध्यस्थता का इच्छुक पाक

तालिबान-अमेरिका के बीच मध्यस्थता का इच्छुक पाक

पाकिस्तानी सेना ने तालिबान नेता मुल्ला मोहम्मद उमर और उसके अन्य कमांडरों के संपर्क में होने की घोषणा करते हुए कहा कि तालिबानी कमांडरों को अमेरिका के साथ वार्ता की मेज पर लाया जा सकता है।

अमेरिकी टीवी चैनल सीएनएन को शुक्रवार को दिए एक विशेष साक्षात्कार में पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल अथर अब्बास ने यह घोषणा की। उन्होंने कहा कि अमेरिका और तालिबान के बीच इस मध्यस्थता के बदले में पाकिस्तान अपने चिर प्रतिद्वंदी भारत के साथ उसकी सुरक्षा चितांओं पर अमेरिका से आश्वासन चाहता है।

अब्बास की इस घोषणा के बाद ओबामा प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अमेरिका तालिबान के बड़े नेताओं और पकिस्तान की भारत के साथ सुरक्षा चिंताओं पर चर्चा करने का इच्छुक है।

अब्बास ने माना कि अफगानिस्तान में सोवियत संघ से संघर्ष के दौरान पाकिस्तानी सेना का अमेरिका के साथ साथ तालिबान आतंकवादियों के साथ बड़ा गहरा संबंध था तथा अभी भी सेना का तालिबान के बड़े नेताओं मुल्ला उमर, जलालुद्दीन हक्कानी, मुल्ला नजीर तथा गुलबदिन हिकमतयार के साथ संपर्क है।

उन्होंने कहा कि हां यह सही है कि सोवियत संघ के साथ संघर्ष में आईएसआई सबसे आगे थी। अब इस प्रकार के संगठनों, तालिबान के साथ संपर्क बनाए रखने का मतलब यह नहीं है कि पाकिस्तान सरकार की नीति उन्हें सहायता, वित्तीय मदद या प्रशिक्षण उपलब्ध कराने की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तालिबान-अमेरिका के बीच मध्यस्थता का इच्छुक पाक