class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जब चुनें कंपनी

हमेशा कहा जाता है कि इक्विटी परिसंपत्तियों की ऐसी श्रेणी है जो दीर्घावधि में हमेशा बेहतर प्रदर्शन करती है, लेकिन सवाल उठता है कि आप सही कंपनी कैसे चुनें?

यह बेहद जरूरी है कि आप कंपनी को जानने में समय व्यतीत करें, उसका बिजनेस, फाइनेंशियल स्थिति और उसकी भावी संभावनाओं को समझना बेहद जरूरी है।

कंपनी चुनते समय न्यूनतम मार्केट कैप निर्धारित करना आपके लिए काफी मददगार साबित हो सकता है। इससे छोटी और बड़ी कंपनियां अपने आप ही छंट जाएगी।

सामान्यत: छोटी कंपनियों का रिवेन्यू बेस भी कम होता है और वह इंवेस्टर रिलेशन पर ज्यादा रुपए खर्च नहीं करती जिसकी वजह से उनकी पहचान करना काफी मुश्किल होता है।

आप उन कंपनियों के बारे में विचार मत करें, जिनकी मार्केट कैप 250 करोड़ से कम है। तकरीबन 500 कंपनियां ही इस रेंज में खरी उतरेगी।

ट्रेडिंग वॉल्यूम बेहतर होना चाहिए। कम से कम यह कुछ हजर शेयर प्रति दिन होना चाहिए। अगर आप ऐसे स्टॉक खरीदते हैं, जिसका वॉल्यूम कम है, तो यह आपके लिए बाजार गिरने पर मुश्किल खड़ी करेगा।

कंपनी की वेबसाइट को चेक करते रहिए। वेबसाइट में कंपनी के पिछले क्वार्टर के परिणाम और प्रेस रिलीज होती है। बस आप इस बात पर गौर करें कि पिछले क्वार्टर में कंपनी ने किस तरह ग्रोथ की है। उदाहरण के तौर पर कब मूल्यों में बढ़ोतरी हुई और कब माíजन में कमी आई और साथ ही क्या वृद्धि और गिरावट का जवाब दिया गया है।  जारी..

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जब चुनें कंपनी