class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुहाग की हत्या के लिए दी थी सुपारी

राजौरी गार्डन इलाके में हुई व्यवसायी जगमोहन कोहली की हत्या के आरोप में पुलिस ने उसकी पत्नी सुमित कौर (28) और उसके दोस्त पुनीत सचदेवा (32) को गिरफ्तार किया है। महिला की कई लोगों से फ्रेंडशिप थी। पति के रोक-टोक की वजह से वह उससे छुटकारा पाना चाहती थी। इसके लिए उसने अपने दोस्त पुनीत को पांच लाख रुपये की सुपारी दी थी। हत्या के तुरंत बाद उसने पुनीत को 50 हजार रुपये भी दिए थे।

पुलिस उपायुक्त शरद अग्रवाल के अनुसार बुधवार की देर रात जगमोहन की उसके घर में चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई थी। उसकी पत्नी ने पुलिस को बताया था कि चार नकाबपोश बदमाशों ने उसके पति की हत्या की । वारदात के बाद उसके हाथ बांध दिए और मुंह पर टेप लगाकर हत्यारे फरार हो गए। इस संबंध में हत्या का मामला दर्ज कर एसीपी के.एल.मीणा की देखरेख में थानाध्यक्ष सुंदर सिंह और इंस्पेक्टर बी.आर. सांकला द्वारा छानबीन शुरू की गई। जांच में जगमोहन के परिजनों ने उसकी पत्नी पर हत्या का संदेह जताया। पुलिस ने जब महिला से पूछताछ की तो उसके बयानों में विरोधाभास मिला।

उसने पुलिस को बताया कि बदमाशों ने उसके हाथ बांधे, लेकिन पांव नहीं बांधे। पांच दरवाजे खोलकर बदमाश जगमोहन तक पहुंचे थे। बदमाशों ने महिला को कोई चोट नहीं पहुंचाई। पड़ोसी को जानकारी देने की बजाय उसने लगभग 20 मकान छोड़कर रहने वाले अपने जीजा को घटना की जानकारी दी। इन सभी बातों से पुलिस को उस पर शक हुआ। सख्ती से पूछताछ करने पर उसने अपना जुर्म कबूल लिया। पूछताछ में उसने पुलिस को बताया कि कई व्यक्ितयों से उसकी फ्रेंडशिप का जब जगमोहन को पता चला तो उनके बीच मनमुटाव रहने लगा। इसलिए वह ज्यादातर अपने मायके में रहती थी।

हत्या के आरोपी पुनीत से उसकी मुलाकात पांच साल पहले एक अन्य दोस्त ने कराई थी। दोनों के बीच दोस्ती गहरी हो गई।  पुनीत के अनुसार उसे चार लाख रुपये जगमोहन से लेने थे। उसने सोचा कि यदि वह उसकी हत्या कर देगा तो पांच लाख रुपये के साथ-साथ सुमित कौर भी उसे मिल जाएगी। सुमित के खुलासे के बाद पुलिस ने पुनीत को भी गिरफ्तार कर लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सुहाग की हत्या के लिए दी थी सुपारी