class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बंधी में डूबकर तीन बालिकाओं की मौत

घोरावल थाना क्षेत्र के पिड़रिया ग्राम में बीती रात तीन आदिवासी बालिकाओं की बंधी में डूबकर मौत हो गयी। तीन बालिकाओं की मौत की खबर से गांव में कोहराम मच गया।


प्राप्त जनकारी के अनुसार पिड़रिया ग्राम निवासी गुल्लू आदिवासी की लड़की सीमा (10 वर्ष) एवं मंगरु आदिवासी की दो बेटियां सुनीता (12 वर्ष) एवं बबुआ (10 वर्ष) बीते गुरुवार को सुबह गाय चराने गयी थीं। वे रोज घर के मवेशी लेकर चराने जती थीं तथा दोपहर बारह बजे तक लौट आती थीं,लेकिन गुरुवार को देर शाम तक घर नहीं लौटीं तो गांव के अन्य चरवाहों से पूछताछ की गयी। कुछ चरवाहों ने तिलौली ग्राम की तरफ जने की बात बताई। दजर्नों की संख्या में ग्रामीण बीती रात लड़कियों की खोज में जुटे तो लड़कियों की लाठी और चप्पल गांव से दो किमी दूर तिलौली ग्राम के चुनहवां बंधी के पास मिली।

लोगों ने संदेह के आधार पर बंधी के आसपास खोज शुरू की। ग्रामीणों ने आनन फानन में लगभग पानी से लबालब भरी 10 फीट गहरी बंधी को काटकर पानी बहाया तो उसमें तीनों लड़कियों के शव मिले। ग्रामीणों ने शवों को बाहर निकाला। एक साथ तीन बालिकाओं के डूबने की खबर से गांव में कोहराम मच गया। बालिकाओं के बंधी में डूबने से मौत की सूचना घोरावल पुलिस को रात्रि लगभग दो बजे दी गयी। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर अन्त्य परीक्षण के लिए भेज दिया। गौरतलब है कि गुल्लू आदिवासी की इकलौती पुत्री की मौत से उसके परिवार पर दु:खों का पहाड़ टूट पड़ा। 

यह एक संयोग ही था कि गुल्लू गुरुवार को राशन की दुकान से खाद्यान्न लाने गया था जबकि मंगरू मजदूरी करने घोरावल आया था। मंगरू की दो पुत्रियों की मौत से उसके परिवार में सन्नाटा है। मंगरू का एक पुत्र वर्षो से घर से गायब है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बंधी में डूबकर तीन बालिकाओं की मौत