class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रमंडल खेलों पर 1500 करोड़ खर्च, तैयारी अभी आधी

राष्ट्रमंडल खेलों पर 1500 करोड़ खर्च, तैयारी अभी आधी

अगले साल अक्तूबर में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों के लिए अब तक विभिन्न स्टेडियमों के निर्माण में 1493 करोड़ रुपये खर्च कर दिए गए हैं लेकिन अभी तक आधा काम भी नहीं हो पाया और इस बीच अनुमानित बजट भी कई अरब बढ़ गया है।

राष्ट्रमंडल खेलों की तैयारी पिछले एक साल से जोरों से चल रही है लेकिन स्वयं खेल मंत्री ने संसद में स्वीकार किया कि अधिकतर स्टेडियमों में अभी आधा काम ही हो पाया है। वैसे खेल मंत्रालय के अनुसार इस काम में ही लगभग 1493 करोड़ रुपये खर्च हो गए हैं। यही नहीं जब इन स्टेडियमों का निर्माण कार्य शुरू हुआ था तो इसके लिए 3792 करोड़ रुपये आवंटित किए गए थे लेकिन अब यह खर्च बढ़कर 4644 करोड़ हो गया है यानि अब अनुमानित लागत में 852 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हो गई है।


सरकारी आंकड़ों के अनुसार दिल्ली विकास प्राधिकरण के साथ मिलकर बनाए जा रहे खेल गांव पर अनुमान से करीब दो गुना ज्यादा खर्च होने की उम्मीद है। खेल गांव बनाने के लिए 325 करोड़ का अनुमान लगा कर धन आवंटित किया गया था जिमसें से 276 करोड़ रुपया खर्च किया जा चुका है और इस पर 1034 करोड़ रुपया खर्च होने का अनुमान है यानि अनुमान से 709 करोड़ रुपया ज्यादा खर्च होगा।


खेल गांव में राष्ट्रमंडल खेलों में भाग लेने के लिए आने वाले करीब 70 देशों के पांच हजार से ज्यादा खिलाड़ी और अधिकारी ठहरेंगे। खेलों के आयोजन के बाद इन फ्लैट को बेच दिया जाएगा। इस आवासीय स्थल का एक छोटा और अत्याधुनिक फ्लैट भी एक करोड़ रुपये से भी ज्यादा की कीमत का होगा। खेल गांव के अलावा अनुमान से ज्यादा खर्च होने वाले स्टेडियमों में दिल्ली विश्वविदालय पर बनाए जाने वाले प्रतियोगिता और ट्रेनिंग सेंटर पर 222 करोड़ रुपया खर्च किए जाने का अनुमान था जिसमें अभी केवल 97 करोड़ ही खर्च हुआ है और अब इस पर 306 करोड़ खर्च होने अनुमान लगाया जा रहा है। इसी तरह टेनिस के लिए आरके खन्ना स्टेडियम पर 30 करोड़ खर्च होने का अनुमान था और जो अब बढ़कर 66 करोड़ रुपये पहुंच गया है।


गुडगांव के खादरपुर शूटिंग रेंज पर 15 करोड़ खर्च का अनुमान लगाया गया था जबकि अब पांच करोड़ खर्च हुआ है और 29 करोड़ रुपया खर्च होने का अंदाज है। खेल गांव के बाद सबसे ज्यादा पैसा जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम पर खर्च होना है। यहां पर राष्ट्रमंडल खेलों का उद्घाटन और समापन समारोह भी यहीं होना है। लोक निर्माण विभाग द्वारा फिर से बनाए जा रहे इस स्टेडियम पर 961 रुपया खर्च होना है जिसमें से अभी तक 346 करोड़ रुपया खर्च हुआ है। इस स्टेडियम को इस साल दिसंबर तक तैयार हो जाना है।


इंदिरा गांधी स्टेडियम पर 669 करोड़ खर्च होना है जिसमें से अभी तक 224 करोड़ खर्च हुआ। तालकटोरा स्टेडियम पर 377 करोड़ खर्च होना है जिसमें से 112 करोड़ रुपये ही खर्च हुए हैं। नेशनल स्टेडियम पर 262 करोड़ में से अभी 103 करोड़ खर्च हुआ है। कर्णी सिंह शूटिंग रेंज पर 149 करोड़ में से 48 करोड़ खर्च किए गए हैं। जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविदयालय पर ट्रेनिंग केन्द्र के लिए 33 करोड़ का अनुमान किया गया था और अब तक इस पर नौ करोड़ खर्च हुए और इस पर 42 करोड़ रुपये का खर्च होने का अनुमान है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राष्ट्रमंडल खेलों पर 1500 करोड़ खर्च, तैयारी अभी आधी