class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘एंग्री यंग मैन’ ने कहा बंद करो अखबार

‘एंग्री यंग मैन’ ने कहा बंद करो अखबार

बीमारी से उबर रहे अमिताभ बच्चन पिछले दिनों मुंबई के एक अखबार में छपी रिपोर्ट से खासे व्यथित हैं। रिपोर्ट में बच्चन परिवार को पर्यावरण संरक्षण के नाम पर सिर्फ बातें बनाने वाला परिवार कहे जाने पर बच्चन ने अखबार को जम कर लताड़ पिलाते हुए अखबार बंद करने की सलाह दे डाली।

मुंबई के एक अखबार ने अपने बुधवार के अंक में बच्चन परिवार की स्पोटर्स यूटिलिटी वैन (एसयूवी) पर टिप्पणी करते हुए कहा है कि एक तरफ तो बच्चन परिवार सामाजिक से लेकर फिल्म समारोहों के ग्रीन कार्पेट पर पर्यावरण संरक्षण की बातें करता है, दूसरी ओर कहीं भी आने--जाने के लिए एसयूवी का उपयोग करता है।

अखबार ने लिखा है कि एसयूवी वातावरण में कार्बन डाई ऑक्साइड उत्सर्जन का एक बहुत बड़ा स्रोत है और इस पर अमेरिकी सरकार प्रतिबंध लगाने की योजना बना रही है। अखबार की इस रिपोर्ट से बच्चन खासे व्यथित हैं और उन्होंने इसके जवाब में अखबार को लताड़ते हुए सलाह दी है कि पर्यावरण संरक्षण और देश के गांवों में बिजली पहुंचाने के लिए जरूरी है कि सबसे पहले अखबार वाले अखबार छापने के लिए कार्बन का उपयोग करना बंद करें।

बच्चन ने अपने ब्लॉग पर लिखा है क्या यह अच्छा नहीं होगा कि पूरा प्रिंटिंग प्रेस समुदाय अखबार के लिए कार्बन प्रिंट जलाना बंद कर दे। सोचिए अगर समुदाय इस खतरनाक रसायन का उपयोग बंद कर दे तो इससे कितने गांवों में रोशनी पहुंचाई जा सकेगी।

बच्चन ने लिखा है हां ऐसा होने पर कोई अखबार नहीं बचेगा, लेकिन विश्व को बचाने के लिए अखबार इतना तो कर ही सकते हैं, ‘‘जहान है तो जान है’’ भाई साहब, बहनजी़ऽ अगर मुझे इस जानी-पहचानी लोकोक्ति को पलटने का मौका दे दिया जाए तो।

बच्चन ने अखबार को सलाह देते हुए कहा है कि पर्यावरण संरक्षण की खातिर आप लोग अपने मोबाइल फोन का उपयोग बंद कर दें और जब भी आपको बच्चन परिवार का साक्षात्कार लेना हो तो उनके घर आकर उनसे बात करें। बच्चन के अनुसार क्या आपको पता है कि प्रत्येक फोन और एसएमएस से आप कितनी रेडियोएक्टिव तरंगें वातावरण में पहुंचा रहे हैं।


पर्यावरण संरक्षण की आप अपने घर से शुरुआत क्यों नहीं करते। जब भी आपको बात करनी हो तो आप बच्चन परिवार के पार आ जाएं, यह आपसे ज्यादा दूर नहीं है। पैदल चलना आपको फिट भी रखेगा। बच्चन यहीं तक नहीं रूके। उन्होंने अखबार को सलाह दी है कि वे जल्दी ही जैगुआर और एसयूवी का निर्माण करने जा रहे रतन टाटा और महिंद्रा एंड महिंद्रा को भी रोकें और उन्हें इससे होने वाले नुकसानों की जानकारी दें।

बच्चन ने लिखा है आप पैदल उनके पास जाएं। आप मीडिया हैं, पूरी दुनिया आपसे डर कर आप के सामने झुकती है। वे आपकी बात जरूर सुनेंगे। बच्चन के कटाक्षों का सिलसिला यहीं नहीं रूका। उन्होंने अखबार को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा तक जाने और उन्हें हवाई यात्राएं और कार्बन उत्सर्जित करने वाले उपकरणों का उपयोग बंद करने का सुझाव देने संबंधी सलाह दे डाली।

बच्चन ने कहा आप लोग जल्दी से दिल्ली जाएं और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से कहें कि वे अपने काफिले में एसयूवी का उपयोग बंद करवा दें। अखबार को अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा से संपर्क करने की सलाह देते हुए उन्होंने लिखा ओबामा जल्दी ही हमारे देश आने वाले हैं। आप उनसे मिलकर उन्हें गजलर्स (गैस उत्सर्जित करने वाले उपकरण) की इस अवधारणा के बारे में बताएं। मुझे विश्वास है कि वे इस पर कोई प्रभावी टिप्पणी देंगे। इसके बाद बच्चन ने अखबार पर बरसते हुए कहा जब आप यह सब करने में सफलता पा लें, उसके बाद मेरे पास आएं। मैं खुशी से आपको अपनी एसयूवी दे दूंगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:‘एंग्री यंग मैन’ ने कहा बंद करो अखबार